सूर्योदय से स्वयं ही लोग लम्बी लाइन लगाकर बैंक खुलने का करते हैं इंतजार

मुस्ताक आलम रोहनिया, वाराणसी। स्थानीय क्षेत्र रोहनिया लाक डाउन के दौरान ग्रामीण क्षेत्रों के गरीब असहाय लोगों के सामने आए खाने पीने के लिए व बिकट संकट की घड़ी में खाने पीने के लिए चिंतित लोगों ने मोहनसराय चौराहा अदलपुरा रोड स्थित काशी गोमती संयुक्त ग्रामीण बैंक शनिवार तथा रविवार को बंद होने की वजह से सोमवार को खुलने के पहले से सुबह 6 बजे से ही विधवा पेंशन, दिव्यांग पेंशन, वृद्धा पेंशन, जनधन खाते में आये हुए पैसा निकालने के लिए बैंक पर सूर्योदय के पहले से ही मनरेगा के मजदूरो के साथ-साथ महिलाओं तथा पुरुषों का भारी संख्या में आए हुए लोगों ने अपने आप कतार बद्ध होकर लंबी लाइन लगाकर बैंक खुलने का इंतजार करते हैं। शाखा प्रबंधक दीपिका चौबे ने बताया कि विगत दो दिन शनिवार तथा रविवार को बैंक बंद रहने की वजह से लोगों की भीड़ ज्यादा की संख्या में इकट्ठा हो गये है। सुबह 10 बजे बैंक खुलने के उपरांत में बैंक पर लगे भारी भीड़ लगने की सूचना पर मोहनसराय चौकी इंचार्ज गौरव पांडेय बैंक पर पहुंचकर सभी लोगों को 3 फुट की दूरी पर क्रमबद्ध महिलाओं तथा पुरुषों को अलग-अलग लाइन लगवा कर सुचारू रूप से लोगों के खाते से पैसा की निकासी कराया गया। महिलाओं को लाइन में लगाने के लिए तथा उनकी सहायता के लिए महिला पुलिस भी लगाया गया था।

मुस्ताक आलम
रोहनिया, वाराणसी। स्थानीय क्षेत्र रोहनिया लाक डाउन के दौरान ग्रामीण क्षेत्रों के गरीब असहाय लोगों के सामने आए खाने पीने के लिए व बिकट संकट की घड़ी में खाने पीने के लिए चिंतित लोगों ने मोहनसराय चौराहा अदलपुरा रोड स्थित काशी गोमती संयुक्त ग्रामीण बैंक शनिवार तथा रविवार को बंद होने की वजह से सोमवार को खुलने के पहले से सुबह 6 बजे से ही विधवा पेंशन, दिव्यांग पेंशन, वृद्धा पेंशन, जनधन खाते में आये हुए पैसा निकालने के लिए बैंक पर सूर्योदय के पहले से ही मनरेगा के मजदूरो के साथ-साथ महिलाओं तथा पुरुषों का भारी संख्या में आए हुए लोगों ने अपने आप कतार बद्ध होकर लंबी लाइन लगाकर बैंक खुलने का इंतजार करते हैं।

शाखा प्रबंधक दीपिका चौबे ने बताया कि विगत दो दिन शनिवार तथा रविवार को बैंक बंद रहने की वजह से लोगों की भीड़ ज्यादा की संख्या में इकट्ठा हो गये है। सुबह 10 बजे बैंक खुलने के उपरांत में बैंक पर लगे भारी भीड़ लगने की सूचना पर मोहनसराय चौकी इंचार्ज गौरव पांडेय बैंक पर पहुंचकर सभी लोगों को 3 फुट की दूरी पर क्रमबद्ध महिलाओं तथा पुरुषों को अलग-अलग लाइन लगवा कर सुचारू रूप से लोगों के खाते से पैसा की निकासी कराया गया। महिलाओं को लाइन में लगाने के लिए तथा उनकी सहायता के लिए महिला पुलिस भी लगाया गया था।