Sunday, August 14, 2022

पीजीआई की नींव से जुड़े देश के जाने माने न्यूरो सर्जन डॉ. डी के छाबड़ा का निधन

Must Read

- Advertisement -

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में न्यूरो सर्जरी को स्थापित करने वाले और पीजीआई की नींव से जुड़े देश के जाने माने न्यूरो सर्जन डॉ. डी के छाबड़ा (80) ने मंगलवार की सुबह अंतिम सांस ली। वह कई दिन से पीजीआई के क्रिटिकल केयर मेडिसिन (सीसीएम) में भर्ती थे। सिर के छोटे और बड़े हर प्रकार के ट्यूमर का ऑपरेशन कर बहुत से लोगों को नया जीवन देने वाले डॉ. छाबड़ा जिंदगी के अंतिम पड़ाव में वह खुद ट्यूमर की चपेट में आ गए। जिसकी वजह से उनकी मौत हो गई। डॉ. छाबड़ा वर्ष 1986 से 2003 तक पीजीआई में रहे। इस दौरान पीजीआई में न्यूरो सर्जरी विभाग स्थापित करने के साथ ही संस्थान के डीन और कई बार कार्यवाहक निदेशक भी रहे। यहां से सेवानिवृत्त होने के बाद निरालानगर स्थित विवेकानंद अस्पताल में सेवाएं दे रहे थे। डॉ. डीके छाबड़ा ने दिमाग में भरे द्रव को स्पाइन के जरिए बाहर निकलाने के लिए नई तकनीक इजाद की। दिमाग में लगाने के लिए एक शंट विकसित किया। जिसका नाम छाबड़ा वेंट्रिकुलो परिटोनियल दिया। इस शंट का उपयोग 28 देश के डॉक्टर कर रहे हैं। इसके आलावा डॉ. छाबड़ा के 300 से अधिक शोध पत्र, बुक चैप्टर और पुस्तकें हैं। डॉ. छाबड़ा केजीएमयू से एमबीबीएस और एमएस की पढ़ाई करने के बाद वर्ष 1974 से 1986 तक यही न्यूरो सर्जन रहे। उसके पीजीआई चले गए। उन्होंने ने डॉ. एसएस अग्रवाल, डॉ.बीबी सेठी के साथ पीजीआई की नींव रखी थी। संस्थान विकसित करने में इनकी अहम भूमिका थी। यह तीनों विभूतियां आज इस दुनिया में नही हैं। पीजीआई निदेशक डॉ. आरके धीमान, सीएमएस डॉ. अमित अग्रवाल, न्यूरो सर्जरी के विभागाध्यक्ष डॉ. संजय बिहारी समेत पूर्व निदेशक डॉ. राकेश कपूर समेत संस्थान के संकाय सदस्य के अलावा विवेकानंद अस्पताल के स्वामी मुक्ति नाथा नंद सहित तमाम डॉक्टरों ने निधन पर शोक व्यक्त किया।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में न्यूरो सर्जरी को स्थापित करने वाले और पीजीआई की नींव से जुड़े देश के जाने माने न्यूरो सर्जन डॉ. डी के छाबड़ा (80) ने मंगलवार की सुबह अंतिम सांस ली। वह कई दिन से पीजीआई के क्रिटिकल केयर मेडिसिन (सीसीएम) में भर्ती थे। सिर के छोटे और बड़े हर प्रकार के ट्यूमर का ऑपरेशन कर बहुत से लोगों को नया जीवन देने वाले डॉ. छाबड़ा जिंदगी के अंतिम पड़ाव में वह खुद ट्यूमर की चपेट में आ गए। जिसकी वजह से उनकी मौत हो गई।
डॉ. छाबड़ा वर्ष 1986 से 2003 तक पीजीआई में रहे। इस दौरान पीजीआई में न्यूरो सर्जरी विभाग स्थापित करने के साथ ही संस्थान के डीन और कई बार कार्यवाहक निदेशक भी रहे। यहां से सेवानिवृत्त होने के बाद निरालानगर स्थित विवेकानंद अस्पताल में सेवाएं दे रहे थे। डॉ. डीके छाबड़ा ने दिमाग में भरे द्रव को स्पाइन के जरिए बाहर निकलाने के लिए नई तकनीक इजाद की। दिमाग में लगाने के लिए एक शंट विकसित किया। जिसका नाम छाबड़ा वेंट्रिकुलो परिटोनियल दिया। इस शंट का उपयोग 28 देश के डॉक्टर कर रहे हैं। इसके आलावा डॉ. छाबड़ा के 300 से अधिक शोध पत्र, बुक चैप्टर और पुस्तकें हैं।
डॉ. छाबड़ा केजीएमयू से एमबीबीएस और एमएस की पढ़ाई करने के बाद वर्ष 1974 से 1986 तक यही न्यूरो सर्जन रहे। उसके पीजीआई चले गए। उन्होंने ने डॉ. एसएस अग्रवाल, डॉ.बीबी सेठी के साथ पीजीआई की नींव रखी थी। संस्थान विकसित करने में इनकी अहम भूमिका थी। यह तीनों विभूतियां आज इस दुनिया में नही हैं।
पीजीआई निदेशक डॉ. आरके धीमान, सीएमएस डॉ. अमित अग्रवाल, न्यूरो सर्जरी के विभागाध्यक्ष डॉ. संजय बिहारी समेत पूर्व निदेशक डॉ. राकेश कपूर समेत संस्थान के संकाय सदस्य के अलावा विवेकानंद अस्पताल के स्वामी मुक्ति नाथा नंद सहित तमाम डॉक्टरों ने निधन पर शोक व्यक्त किया।

जौनपुर। प्रधानमंत्री मोदी ने देश को संबोधित करते हुए गरीबों को नवंबर 2020 तक प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत 80 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन मुहैया कराने की घोषणा की। मोदी ने कहा कि त्योहारों का समय खर्च भी बढ़ाता है इसलिए फैसला लिया गया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार अब दीपावली और छठ पूजा तक, यानी नवंबर के आखिरी तक मुफ्त कर दिया जाएगा। प्रत्येक परिवार को हर महीने पांच किलो गेहूं और पांच किलो चावल औऱ एक किलो चना दिया जाएगा। इसमें 90 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च होंगे। पिछले महीने का खर्च भी जोड़ दें तो करीब 1.5 लाख करोड़ हो जाता है। कोरोना महामारी पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान, नियमों का सख्ती से पालन किया जाता था परन्तु अब सरकार, स्थानीय प्रशासन और नागरिकों को फिर से इसी तरह की सावधानी दिखानी होगी। हमें कंटेनमेंट जोन पर विशेष ध्‍यान देने की आवश्‍यकता है। जिलाध्यक्ष पुष्पराज सिंह ने कहा कि जब से सरकार ने चाइनीज एप्प को पाबन्द कर दी है। तब से देशवासियों में खुशी की लहर है। आज भाजपा के जौनपुर स्थित कार्यालय पर मिठाई बाँट कर खुशी मनाई गई। इस अवसर पर कार्यालय पर जिलाध्यक्ष पुष्पराज सिंह जिला महामंत्री शुशील मिश्रा जी पीयूष गुप्ता जी जिला उपाध्यक्ष सुरेन्द्र कुमार सिंघानियां, ई. अमित कुमार श्रीवास्तव, जिला मंत्री राजू दादा, अभय राय, डीसीएफ चेयरमैन धन्यजय सिंह, भूपेन्द्र पाण्डेय, आमोद सिंह, विनीत शुक्ला, रोहन सिंह, वटेश्वर सिंह, अम्बुज तिवारी, जिला महामंत्री भाजयुमो विकास ओझा, जिला उपाध्यक्ष भाजयुमो आशीष जायसवाल, ऋषिकेश श्रीवास्तव, शुभम मौर्या आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे। चंदन अग्रहरि शाहगंज, जौनपुर। कोरोना महामारी के इस संकट के समय में जनता के सहयोग के बिना कोई कुछ नहीं कर सकता थोड़े से प्रयास से इस महामारी से बचाया जा सकता है। इससे बचने का एक मात्र तरीका है सोशल डिस्टेंसिंग व सेनेटाइजर का प्रयोग करना होगा लेकिन कुछ लोग इसको गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। जो इस महामारी की चपेट में आता है वहीं इसको गंभीरता से लेता है। जनता के जागरूक होने से ही हम इस बीमारी से बच सकते हैं। उक्त बातें पीस कमेटी कि मीटिंग में उपजिलाधिकारी राजेश वर्मा ने कही। सर्व सम्मत से निर्णय लिया गया की बृहस्पतिवार और शुक्रवार के दिन 48 घंटे के लिए सभी दुकानें बंद रहेगी केवल आवश्यक वस्तुओं की दुकानें ही खुलेंगी इसी समय में सभी जगहों पर सेनेटाइजर किया जाएगा शनिवार को एक तरफ की दुकानें खुलेगी दूसरी तरफ की दुकानें बंद रहेगी दुकानदार सेनेटाइजर व मास्क लगाए रखेंगे एक व्यक्ति ही मास्क लगाकर बाईक पर चल सकता है। जो भी इसका पालन नहीं करेगा उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इस बैठक में सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान रखते हुए नगर के संभ्रांत नागरिक एवं उपजिलाधिकारी राजेश वर्मा, पुलिस उपाधीक्षक जितेंद्र दुबे, प्रभारी निरीक्षक भारत भूषण शुक्ला, चिकित्साधिकारी डॉ. सान्याल, नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष एवं ई ओ सहित सभासदगण व व्यापारी वर्ग के लोग मौजूद रहे। जौनपुर। राय स्टूडियो एण्ड स्क्रीन प्रिंटिंग प्रेस त्रिलोचन महादेव, जलालपुर जौनपुर, हमारे यहां शादी विवाह, बर्थडे, रामायण आदि शुभ अवसर पर कार्ड की छपाई एवं विडियो व फोटोग्राफी की जाती है। जिसमें LCD, क्रेन, ड्रोन, 4K की सुविधा भी उपलब्ध है, और साथ ही करिज्मा एलबम की डिजाइनिंग की जाती है। जौनपुर। समाजवादी युवजन सभा के प्रदेश अध्यक्ष अरविंद गिरि, लोहिया वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष डा. रामकरन निर्मल, छात्रसभा के प्रदेश अध्यक्ष दिग्विजय सिंह देव ने पूर्व कैबिनेट मंत्री पारसनाथ यादव को श्रद्धांजलि अर्पित कर परिजनों से मुलाकात किया। पूर्व मंत्री केपी यादव के गांव उतरगांवा जाकर उनके पिता के निधन पर संवेदना व्यक्त किया। जिला पंचायत अध्यक्ष राजबहादुर यादव के बड़े भाई के निधन पर श्रद्धांजलि अर्पित किया। इसके बाद पूर्व कैबिनेट मंत्री जगदीश नारायण राय के कबीरुद्दीनपुर स्थित आवास पर पहुंचकर उनके शिष्टाचार मुलाकात किया। इस दौरान प्रदेश अध्यक्षों द्वारा जनपद की वर्तमान राजनीतिक परिस्थिति के साथ मूलभूत समस्याओं पर विस्तार से चर्चा किया गया। इस दौरान दिग्विजय सिंह देव ने कहा कि सपा सरकार बनने पर मेडिकल कालेज का नाम स्व. पारस नाथ यादव के नाम पर होगा। इस मौके पर जिलाध्यक्ष लाल बहादुर यादव, हिसामुद्दीन शाह, राहुल त्रिपाठी, अतुल सिंह, अनिल यादव फौजी, दिनेश यादव फौजी, नवनीत यादव, राकेश यादव, नगीना यादव, सुनील यादव, अमित यादव, राघवेन्द्र यादव, प्रमोद यादव, शनि यादव, बाबा यादव, आरबी यादव, विकास यादव, जेपी पाल, लालचन्द यादव, रजनीश मिश्रा, डा. लक्ष्मीकांत यादव, दीपक गोस्वामी, तहलका यादव आदि मौजूद रहे।

- Advertisement -

अब आप भी tejastoday.com Apps इंस्टॉल कर अपने क्षेत्र की खबरों को tejastoday.com पर कर सकते है पोस्ट

spot_imgspot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

फरीदुल हक मेमोरियल पी.जी. कालेज तालीमाबाद, सबरहद शाहगंज जौनपुर की तरफ से आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

फरीदुल हक मेमोरियल पी.जी. कालेज तालीमाबाद, सबरहद शाहगंज जौनपुर की तरफ से आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक...
- Advertisement -spot_img

More Articles Like This