Monday, August 8, 2022

ऐश्वर्या राय बच्चन और उनकी बेटी आराध्या बच्चन को पाया गया कोरोना पॉजिटिव

Must Read

- Advertisement -

ऐश्वर्या राय बच्चन और उनकी बेटी आराध्या बच्चन को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। वहीं जया बच्चन की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। यह जानकारी महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने दी है। इससे पहले शनिवार को अमिताभ बच्चन और अभिषेक बच्चन को कोरोना पॉजिटिव पाया गया था।

डिजिटल डेस्क, मुंबई। अमिताभ और अभिषेक बच्चन के बाद अब ऐश्ववर्या राय बच्चन और उनकी बेटी आराध्या कोरोना पॉजिटिव पाई गई हैं। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने ट्वीट करके इस बात की पुष्टि की है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ऐश्वर्या राय बच्चन और उनकी बेटी आराध्या को भी कोरोना है। जया बच्चन की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आई है। राजेश टोपे ने कहा- हम बच्चन परिवार को शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करते हैं।

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

सुईथाकला, जौनपुर। सरपतहां पुलिस ने लाकडाऊन के दौरान शनिवार को बेवजह घर से निकलने वाले लोगों के साथ सख्त रूख अख्तियार किया। इस दौरान थाना प्रभारी पंकज पाण्डेय अपने हमराहियों के साथ क्षेत्र में लोगों को लाकडाऊन के नियमों का पालन करने की अपील करते हुए चक्रमण करते रहे। इस दौरान उन्होंने लाकडाउन के दौरान बिना मास्क के बिना वजह घूमने के आरोप में लगभग आधे दर्जन लोगों को हिरासत में लेने के साथ ही लगभग डेढ़ दर्जन दुपहिया वाहनों का चालान किया।

जानकारी के मुताबिक, ऐश्वर्या और आराध्या में कोरोना के कोई लक्षण नहीं दिखे थे। अमिताभ और अभिषेक की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद इनका भी कोरोना टेस्ट किया गया तो रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके अलावा श्वेता नंदा, अगस्त्या नंदा, नव्या नवेली नंदा की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई है। वहीं BMC ने अमिताभ बच्चन के बंगले ‘जलसा’ को कंटनेमेंट जोन घोषित कर दिया है। बीएमसी कर्मचारियों ने अमिताभ के बंगले के बाहर इसको लेकर बैनर भी लगा दिया है। बताया जा रहा है कि, ऐश्वर्या राय और उनकी बेटी आराध्या अभी जलसा में ही हैं।

धर्मापुर, जौनपुर। धर्मापुर ब्लाक के गौराबादशाहपुर कस्बा निवासी 12 लोगों की रिपोर्ट शनिवार को कोरोना पॉजिटिव आने से हड़कंप मच गया। गौराबादशाहपुर कस्बा के गौरा निवासी किराना व्यवसायी भाइयों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद बीते चार जुलाई को इस परिवार व उनसे संपर्क के 70 लोगों का सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया था। जिसमें से व्यवसायी परिवार के तीन के साथ कुल 12 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर सीएचसी गौराबादशाहपुर के अधीक्षक डा. मनोज कुमार के नेतृत्व में स्वास्थ्य टीम शाम को कस्बे में पहुंची। टीम ने सभी संक्रमित को एम्बुलेंस से पूर्वांचल विश्वविद्यालय स्थित अस्थाई अस्पताल भिजवाया। मौके पर एसओ रामप्रवेश कुशवाहा भी मय फोर्स मोजूद रहे। अधीक्षक ने बताया कि उच्चाधिकारियों के निर्देश पर इलाके को सील करने की तैयारी की जा रही है। मीरगंज, जौनपुर। स्थानीय क्षेत्र के लासा गांव में यूपीपीसीएल के तहत कराये जा रहे कार्य में उपयोगी सामान को लेने गये सुपरवाईजर को आधा दर्जन मनबढो ने पीट कर घायल कर दिया। पीड़ित घायल अवस्था में पहुंच पुलिस को तहरीर दे दी है। प्राप्त जानकारी के अनुसार पंवारा थाना के कठार गांव निवासी 24 वर्षीय अभिषेक सिंह यूपीपीसीएल द्वारा कराये जा रहे कार्य मे ठेकेदार द्वारा सुपरवाइज़र रखा गया है। ठेकेदार लासा गांव मे कुछ सामान छोड रक्खा था। जिसे अभिषेक सिंह लेने गया था। सामान नही देने और ठेकेदार को लिवा कर आने के लिए कहते हुए उसे आधा दर्जन लोगों ने लाठी डण्डा से पीटकर घायल कर दिया। जिससे उसका सिर फट गया। थाने पहुच कर पीड़ित ने पुलिस को तहरीर दे दी है। सड़क पर चलना मुश्किल, लोग हो रहे दुर्घटना के शिकार पंकज बिंद महराजगंज, जौनपुर। प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत निर्मित सड़क की दुर्दशा देखकर लोग यह कहने को मजबूर हो जाते हैं कि सड़क में गड्ढा है या फिर गड्ढ़े में सड़क। फिलहाल खस्ताहाल जर्जर गड्ढेदार सड़क पर चलने को मजबूर लोग अनायास ही दुर्घटना के शिकार हो रहे हैं। सड़क पर बने गड्ढों में बारिश का पानी जमा हो जाता है। स्थानीय लोगों का कहना है कि बक्शा रसिकापुर लोहिंदा मार्ग का निर्माण 2013-14 में प्रारंभ हुआ था। इसका निर्माण मई 2014 में पूर्ण हो जाना था लेकिन 2017 तक निर्माण कार्य चला। 5 वर्ष का अनुरक्षण काल निर्माण इकाई ने 2019 में पूर्ण दिखाकर मरम्मत का कार्य बंद कर दिया। ऐसे में 2020 में सड़क टूटकर पूरी तरह से बिखर गई। 2017 में तत्कालीन जिलाधिकारी ने निर्माण कार्य में देरी व लापरवाही को लेकर निर्माण इकाई पर प्राथमिकी दर्ज कराने के साथ निर्माण एजेंसी को ब्लैक लिस्टेड कर दिया था। मयन्दीपुर, लोहिन्दा चौराहा से बंधवा तक सड़क टूटकर पूरी तरह से बिखर गई है। सड़क में बने बड़े-बड़े गड्ढे दुर्घटनाओं का कारण बन रहे हैं। दिन में तो किसी प्रकार इस सड़क पर 15 किलोमीटर की दूरी घंटे-डेढ़ घंटे में तय की जा सकती है लेकिन रात के समय में इस सड़क पर चलना किसी भारी जोखिम से कम नहीं है। ऐसे में बाइक, साइकिल व पैदल यात्री सड़क में बने गड्ढों में गिरकर दुर्घटना के शिकार हो रहे हैं।

- Advertisement -

अब आप भी tejastoday.com Apps इंस्टॉल कर अपने क्षेत्र की खबरों को tejastoday.com पर कर सकते है पोस्ट

spot_imgspot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

पर्यटन मंत्री ने जनसुनवाई कर सुनीं जन समस्याएं

पर्यटन मंत्री ने जनसुनवाई कर सुनीं जन समस्याएं आशीष उपाध्याय सिरसागंज, फिरोजाबाद। नगर में पर्यटन मंत्री ने जनसुनवाई के दौरान काफी...
- Advertisement -spot_img

More Articles Like This