Wednesday, August 10, 2022

तीन वर्ष बाद भी नहीं पूरी हो सकी ग्राम पंचायत की जांच

Must Read

- Advertisement -

महराजगंज, जौनपुर। नौ दिन चले ढाई कोस की कहावत ग्राम पंचायत की जांच पर बिल्कुल सटीक बैठती है। जुलाई 2017 में केंद्रीय पंचायती राज मंत्रालय द्वारा जांच का आदेश देने के बावजूद जांच की प्रक्रिया अभी तक लंबित है। आरोप है कि महराजगंज विकासखंड के बैरमा मुहकुचा गांव में 2010 से 2015 के बीच हुए विकास कार्यों की जांच के लिए गांव के अरविंद कुमार ने केंद्रीय पंचायती राज मंत्रालय के प्रमुख सचिव को शिकायत दर्ज कराई। जुलाई 2017 में केंद्रीय पंचायती राज मंत्रालय ने पंचायत राज विभाग को मामले की जांच के लिए आदेशित किया। शिकायतकर्ता ने आईजीआरएस द्वारा जांच में विलंब होने पर सूचना मांगने के बाद जिला पंचायत राज अधिकारी ने 2018 जनवरी में उक्त जांच पर आपत्ति दर्ज करते हुए कहा कि बिना नोटरी के जांच नहीं कराई जा सकती। ऐसे में जनवरी 2018 को शिकायतकर्ता ने जिलाधिकारी के समक्ष नोटरी हलफनामा जांच हेतु प्रस्तुत किया। इस प्रकरण में मार्च 2018 में जिला कृषि अधिकारी को जांच हेतु नामित किया गया। अप्रैल में गांव में जांच करने पहुंचे जिला कृषि अधिकारी ने अपलोड बिल वाउचर और जांच हेतु प्रस्तुत की गई बिल वाउचर में अंतर पाए जाने पर आपत्ति जताया। इसी दौरान जिला गन्ना अधिकारी को जांच अधिकारी बना दिया गया। शिकायतकर्ता द्वारा जल्द जांच पूरी किए जाने की मांग पर जिलाधिकारी ने जनवरी 2020 में टीम का गठन किया। जिसमें जिला अर्थसंख्या अधिकारी, जिला गन्ना अधिकारी एवं अधिशासी अभियंता ग्रामीण अभियंत्रण सेवा को सदस्य बनाया गया है। लेकिन टीम गठन होने के 6 माह बीत जाने के बावजूद जांच कार्यवाही पूर्ण नहीं हो सकी। इस संबंध में शिकायतकर्ता का आरोप है कि उक्त जांच 3 वर्ष से लंबित है। इस संबंध में खंड विकास अधिकारी महराजगंज का कहना है कि सारी पत्रावली जांच टीम को उपलब्ध करा दी गई है। जांच टीम अपनी रिपोर्ट जिलाधिकारी को प्रस्तुत करेंगी।

महराजगंज, जौनपुर। नौ दिन चले ढाई कोस की कहावत ग्राम पंचायत की जांच पर बिल्कुल सटीक बैठती है। जुलाई 2017 में केंद्रीय पंचायती राज मंत्रालय द्वारा जांच का आदेश देने के बावजूद जांच की प्रक्रिया अभी तक लंबित है। आरोप है कि महराजगंज विकासखंड के बैरमा मुहकुचा गांव में 2010 से 2015 के बीच हुए विकास कार्यों की जांच के लिए गांव के अरविंद कुमार ने केंद्रीय पंचायती राज मंत्रालय के प्रमुख सचिव को शिकायत दर्ज कराई।

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

धर्मापुर, जौनपुर। धर्मापुर ब्लाक के गौराबादशाहपुर कस्बा निवासी 12 लोगों की रिपोर्ट शनिवार को कोरोना पॉजिटिव आने से हड़कंप मच गया। गौराबादशाहपुर कस्बा के गौरा निवासी किराना व्यवसायी भाइयों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद बीते चार जुलाई को इस परिवार व उनसे संपर्क के 70 लोगों का सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया था। जिसमें से व्यवसायी परिवार के तीन के साथ कुल 12 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर सीएचसी गौराबादशाहपुर के अधीक्षक डा. मनोज कुमार के नेतृत्व में स्वास्थ्य टीम शाम को कस्बे में पहुंची। टीम ने सभी संक्रमित को एम्बुलेंस से पूर्वांचल विश्वविद्यालय स्थित अस्थाई अस्पताल भिजवाया। मौके पर एसओ रामप्रवेश कुशवाहा भी मय फोर्स मोजूद रहे। अधीक्षक ने बताया कि उच्चाधिकारियों के निर्देश पर इलाके को सील करने की तैयारी की जा रही है।

जुलाई 2017 में केंद्रीय पंचायती राज मंत्रालय ने पंचायत राज विभाग को मामले की जांच के लिए आदेशित किया। शिकायतकर्ता ने आईजीआरएस द्वारा जांच में विलंब होने पर सूचना मांगने के बाद जिला पंचायत राज अधिकारी ने 2018 जनवरी में उक्त जांच पर आपत्ति दर्ज करते हुए कहा कि बिना नोटरी के जांच नहीं कराई जा सकती। ऐसे में जनवरी 2018 को शिकायतकर्ता ने जिलाधिकारी के समक्ष नोटरी हलफनामा जांच हेतु प्रस्तुत किया। इस प्रकरण में मार्च 2018 में जिला कृषि अधिकारी को जांच हेतु नामित किया गया।

चंदन अग्रहरि शाहगंज, जौनपुर। नगर के रामपुर रोड़ मुहल्ला निवासी एक किराना व्यवसायी की कोरोना संक्रमण रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिससे व्यापारियों में भय व्याप्त है। नगर के श्री रामपुर रोड़ गांधी नगर कलेक्टरगंज मुहल्ला निवासी एक किराना व्यवसाई की शनिवार को जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद व्यापारियों हड़कंप मच गया। सभी व्यापारी स्वास्थ्य को लेकर सशंकित है।

अप्रैल में गांव में जांच करने पहुंचे जिला कृषि अधिकारी ने अपलोड बिल वाउचर और जांच हेतु प्रस्तुत की गई बिल वाउचर में अंतर पाए जाने पर आपत्ति जताया। इसी दौरान जिला गन्ना अधिकारी को जांच अधिकारी बना दिया गया। शिकायतकर्ता द्वारा जल्द जांच पूरी किए जाने की मांग पर जिलाधिकारी ने जनवरी 2020 में टीम का गठन किया।

चंदन अग्रहरि शाहगंज, जौनपुर। क्षेत्र के सबरहद मोलनापुर गांव की एक नाबालिग किशोरी के साथ दुष्कर्म कर फरार चल रहे दो आरोपितों को मुखबिर की सूचना पर कोतवाली पुलिस ने क्षेत्र के उसरहटा रेलवे क्रॉसिंग के समीप से गिरफ्तार कर चालान न्यायालय भेज दिया। क्षेत्र के सबरहद मोलनापुर गांव निवासी एक किशोरी के साथ बीते अप्रैल माह में दो युवकों ने एक किशोरी को बहला कर दुष्कर्म कर फरार हो गए थे। शनिवार की सुबह कोतवाली पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि क्षेत्र उसरहटा रेलवे क्रॉसिंग के समीप दुष्कर्म के दो आरोपी खेतासराय थाना क्षेत्र के भठियारी सराय मोहल्ला निवासी बाला उर्फ इब्राहीम पुत्र स्व मुशीर व जनपद के अंबर होटल के पीछे बलुआ घाट निवासी जावेद पुत्र इब्राहीम उर्फ पप्पू मिस्त्री भागने की फिराक में खड़े थे। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने दो युवकों को गिरफ्तार कर चालान न्यायालय भेज दिया।

जिसमें जिला अर्थसंख्या अधिकारी, जिला गन्ना अधिकारी एवं अधिशासी अभियंता ग्रामीण अभियंत्रण सेवा को सदस्य बनाया गया है। लेकिन टीम गठन होने के 6 माह बीत जाने के बावजूद जांच कार्यवाही पूर्ण नहीं हो सकी। इस संबंध में शिकायतकर्ता का आरोप है कि उक्त जांच 3 वर्ष से लंबित है। इस संबंध में खंड विकास अधिकारी महराजगंज का कहना है कि सारी पत्रावली जांच टीम को उपलब्ध करा दी गई है। जांच टीम अपनी रिपोर्ट जिलाधिकारी को प्रस्तुत करेंगी।

प्रमुख सचिव के. रवीन्द्र नायक ने कलेक्ट्रेट सभागार में की समीक्षा बैठक जौनपुर। प्रमुख सचिव, आयुक्त ग्राम्य विकास विभाग उत्तर प्रदेश एवं नोडल अधिकारी के. रवीन्द्र नायक ने कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में समस्त खंड विकास एवं अन्य अधिकारियों के साथ संचारी रोग अभियान के तहत कराए जा रहे हैं कार्यों की समीक्षा किया। नोडल अधिकारी ने विशेष संचारी रोग अभियान के तहत गांव में चलाए जा रहे सफाई अभियान, एंटी लार्वा का छिड़काव, नाली सफाई तथा जलभराव की समस्या की जानकारी ली। उन्होंने खंड विकास अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि 01 से 31 जुलाई तक चलने वाले संचारी रोग अभियान के तहत समस्त गांव में नियमित रूप से सफाई कराएं। जहां भी जलभराव हो वहां एंटी लार्वा की दवा का छिड़काव करें। घर-घर क्लोरीन की गोलियां वितरित करें तथा लोगों को संचारी रोग के विषय में जागरूक करें। अगर किसी को डायरिया तथा अन्य कोई समस्या हो तो उसकी तत्काल सूचना स्वास्थ्य विभाग को दें। उन्होंने कहा कि समस्त खंड विकास अधिकारी ब्लॉक की सीएचसी से प्रत्येक दिन डायरिया के मरीजों की रिपोर्ट प्राप्त करें। नोडल अधिकारी ने जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि वह एक हफ्ते में इस बात का प्रमाण-पत्र मुख्य विकास अधिकारी को देंगे कि सभी गांव की नालियां साफ हो चुकी हैं तथा कम से कम एक सफाईकर्मी प्रत्येक गांव में नियुक्त करें। सफाईकर्मी नियमित रूप से गांव की सफाई करें। लापरवाही बरतने पर सख्त कार्रवाई किया जाय। उन्होंने कहा कि शहर के नजदीकी गांव में जहां-जहां सड़क किनारे कूड़ा पड़ा है उसे एक हफ्ते के अंदर उठाना सुनिश्चित करें। अधिशासी अभियंता जल निगम को निर्देश देते हुए कहा कि जिन स्थानों पर आर्सेनिक अथवा क्लोराइड की समस्या पानी में हो उन स्थानों को चिन्हित कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें तथा आवश्यक कार्रवाई करें। उन्होंने आयुक्त मनरेगा को निर्देशित किया कि जो प्रवासी मजदूर मनरेगा के तहत कार्य करने के इच्छुक हैं उनके जॉब कार्ड बनाया जाए। अगर किसी गांव में प्रवासी मजदूरों के जॉब कार्ड बनवाने में प्रधान समस्या उत्पन्न करें तो प्रधान के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। इस अवसर पर जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह, मुख्य विकास अधिकारी अनुपम शुक्ला, डीसी मनरेगा भूपेन्द्र सिंह, परियोजना निदेशक ग्राम विकास विभाग अरविंद सिंह, अर्थ एवं संख्या अधिकारी आरडी यादव आदि उपस्थित रहे। जौनपुर। शिराज-ए-हिंद सरजमी पर चीन आया कोरोना वायरस बहुत तेजी के साथ पसार रहा अपना पैर। आपको बताते चले कि आज रविवार को 23 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने से स्थिति भयावह होती जा रही है। पूर्व में भेजे गये सैम्पल की रिपोर्ट रविवार को आयी इनमें 23 पॉजिटिव हैं। जिले में अब 724 कोरोना पॉजिटिव मरीज पाये जा चुके है इनमें 9 की मृत्यु हो चुकी है। हालांकि जिला प्रशासन ने इसकी पुष्टि अभी नहीं की है।

- Advertisement -

अब आप भी tejastoday.com Apps इंस्टॉल कर अपने क्षेत्र की खबरों को tejastoday.com पर कर सकते है पोस्ट

spot_imgspot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

रोजगार उपलब्ध कराने के लिये रोजगार मेले का किया जाय आयोजनः डीएम

रोजगार उपलब्ध कराने के लिये रोजगार मेले का किया जाय आयोजनः डीएम देवी प्रसाद शर्मा आजमगढ़। जिलाधिकारी विशाल भारद्वाज की अध्यक्षता...
- Advertisement -spot_img

More Articles Like This