अमेरिकी अर्थव्यवस्था पर टूटा कोरोना का कहर, जानिए क्या हुआ

वाशिंगटन। कोरोना के खतरनाक वायरस से दुनिया भर में अब तक 51 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है जबकि करीब 10 लाख लोग इससे संक्रमित हैं। वहीं खतरनाक कोरोना वायरस से मची तबाही का असर दुनिया की अर्थव्यवस्थाओं पर किसी कदर पड़ रहा है इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि शक्तिशाली देश अमेरिका में दो सप्ताह में अमेरिका में बेरोजगार हो चुके लोगों की संख्या एक करोड़ तक पहुंच गई है। दरअसल, अमेरिका में घातक कोरोना वायरस के कोविड-19 महामारी से मची तबाही के कारण इस सप्ताह करीब 66 लाख अमेरिकियों ने बेरोजगारी भत्ता की अर्जी दायर की है, जो पिछले सप्ताह के मुकाबले लगभग दोगुना है। यह लेटेस्ट आधिकारिक आंकड़ा बता रहा है कि कोरोना वायरस ने किस तरह से अमेरिका की अर्थव्यवस्था पर बुरा असर डाला है। पिछले सप्ताह करीब 3.3 यानी 33 लाख लोगों ने बेरोजगारी भत्ता के लिए आवेदन दिया था। इस तरह दोनों सत्पाह को मिलाकर यह आंकड़ा 9.9 मिलियन यानी 99 लाख के करीब हो गया है। अमेरिका में इससे पहले एक सप्ताह में सबसे ज्यादा 6.95 हजार लोगों ने 1982 में बेरोजगारी भत्ते के लिए आवेदन किया था। अमेरिका में कोरोना से हो सकती है दो लाख लोगों की मौत व्हाइट हाउस की प्रतिक्रिया समन्वयक डेबोराह बीरक्स ने संवाददाताओं से कहा, हमारे यहां कोरोना से मरने वालों की वास्तविक 100,000 से 200,000 हो सकती है हमें लगता है कि यह एक सीमा है। उन्होंने कहा हमें वास्तव में विश्वास तथा उम्मीद है कि हम प्रतिदिन और बेहतर कर सकते है। बीरक्स एक चार्ट पेश करते हुऐ कहा कि देश में इस महामारी से एक लाख से 240,000 लोगों की मौत हो सकती है। इटली में में अबतक 115,242 लोग इस वायरस की चपेट नागरिक सुरक्षा विभाग ने की तरफ से गुरुवार को जारी किये गए ताजा आंकड़ों के अनुसार इटली में में अबतक 115,242 लोग इस वायरस की चपेट में आ चुके है। विभाग के प्रमुख एंजेलो बोरेल्ली ने पुष्टि करते हुए कहा कि बुधवार के मुकाबले गुरुवार को 2477 नए मामले दर्ज किये गए है। य​हां वर्तमान में कोरोना के 83,048 सक्रिय मामले है जिनमें से 28,540 संक्रमितों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है तथा 4053 संक्रमित गहन देखभाल में है और शेष को उन्हीं के घरों में क्वारंटाइन किया गया है। 1431 लोग स्वस्थ हुये है जिन्हें मिला कर ठीक होने वालों की संख्या बढ़कर 18,278 हो गयी है।

वाशिंगटन। कोरोना के खतरनाक वायरस से दुनिया भर में अब तक 51 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है जबकि करीब 10 लाख लोग इससे संक्रमित हैं। वहीं खतरनाक कोरोना वायरस से मची तबाही का असर दुनिया की अर्थव्यवस्थाओं पर किसी कदर पड़ रहा है इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि शक्तिशाली देश अमेरिका में दो सप्ताह में अमेरिका में बेरोजगार हो चुके लोगों की संख्या एक करोड़ तक पहुंच गई है।

दरअसल, अमेरिका में घातक कोरोना वायरस के कोविड-19 महामारी से मची तबाही के कारण इस सप्ताह करीब 66 लाख अमेरिकियों ने बेरोजगारी भत्ता की अर्जी दायर की है, जो पिछले सप्ताह के मुकाबले लगभग दोगुना है। यह लेटेस्ट आधिकारिक आंकड़ा बता रहा है कि कोरोना वायरस ने किस तरह से अमेरिका की अर्थव्यवस्था पर बुरा असर डाला है। पिछले सप्ताह करीब 3.3 यानी 33 लाख लोगों ने बेरोजगारी भत्ता के लिए आवेदन दिया था। इस तरह दोनों सत्पाह को मिलाकर यह आंकड़ा 9.9 मिलियन यानी 99 लाख के करीब हो गया है। अमेरिका में इससे पहले एक सप्ताह में सबसे ज्यादा 6.95 हजार लोगों ने 1982 में बेरोजगारी भत्ते के लिए आवेदन किया था।

जौनपुर : जमीनी विवाद में हुई मारपीट में बुजुर्ग की मौत, चार घायल

अमेरिका में कोरोना से हो सकती है दो लाख लोगों की मौत

व्हाइट हाउस की प्रतिक्रिया समन्वयक डेबोराह बीरक्स ने संवाददाताओं से कहा, हमारे यहां कोरोना से मरने वालों की वास्तविक 100,000 से 200,000 हो सकती है हमें लगता है कि यह एक सीमा है। उन्होंने कहा हमें वास्तव में विश्वास तथा उम्मीद है कि हम प्रतिदिन और बेहतर कर सकते है। बीरक्स एक चार्ट पेश करते हुऐ कहा कि देश में इस महामारी से एक लाख से 240,000 लोगों की मौत हो सकती है।

अनियंत्रित ट्रक बना काल, आधा दर्जन वाहनों को रौंदा

इटली में में अबतक 115,242 लोग इस वायरस की चपेट

नागरिक सुरक्षा विभाग ने की तरफ से गुरुवार को जारी किये गए ताजा आंकड़ों के अनुसार इटली में में अबतक 115,242 लोग इस वायरस की चपेट में आ चुके है। विभाग के प्रमुख एंजेलो बोरेल्ली ने पुष्टि करते हुए कहा कि बुधवार के मुकाबले गुरुवार को 2477 नए मामले दर्ज किये गए है। य​हां वर्तमान में कोरोना के 83,048 सक्रिय मामले है जिनमें से 28,540 संक्रमितों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है तथा 4053 संक्रमित गहन देखभाल में है और शेष को उन्हीं के घरों में क्वारंटाइन किया गया है। 1431 लोग स्वस्थ हुये है जिन्हें मिला कर ठीक होने वालों की संख्या बढ़कर 18,278 हो गयी है।