Wednesday, August 17, 2022

शिक्षकों की स्थिति बेरोजगारों से भी बदतरः धर्मेन्द्र यादव | #TEJASTODAY

माध्यमिक शिक्षक संघ की बैठक सम्पन्न जौनपुर। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ की जिला कार्यकारिणी बैठक जिला संयोजक राजेश कुमार की अध्यक्षता में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए श्री बलराम यादव जनसेवा इंटर कॉलेज कलीचाबाद में सम्पन्न हुई। बैठक में प्रदेश अध्यक्ष धर्मेंद्र यादव ने कहा कि विश्व गुरु बनने का दम भरने वाले देश व प्रदेश में शिक्षकों की स्थिति प्रवासी मजदूरों व बेरोजगारों से भी बदतर है। क्योंकि इस कोरोना महामारी से बचाव के लिये जहां एक और प्रवासी मजदूरों और अभावग्रस्त के लिए खाद्यान्न एवं आर्थिक पैकेज की व्यवस्था के रूप में सराहनीय कार्य सरकार द्वारा किया गया है। वहीं दूसरी ओर देश के भविष्य का निर्माण करने वाले आर्थिक तंगी से जूझ रहे लाखों वित्तविहीन शिक्षकों और उनसे जुड़े परिवारों के लिए प्रदेश सरकार का रवैया बिल्कुल गैर जिम्मेदाराना है। कई महीनों से स्कूल कॉलेज बंद होने से शुल्क फीस न मिलने के कारण निजी स्कूलों के लाखों शिक्षकों की आर्थिक स्थिति बद से बदतर हो गई है। सरकार यदि समय रहते वित्तविहीन शिक्षकों के लिए बड़े आर्थिक पैकेज की व्यवस्था तत्काल नहीं करती है तो किसी बड़ी अनहोनी से इनकार नहीं किया जा सकता। जिला संयोजक राजेश कुमार ने कहा कि शिक्षकों की एकता से किसी भी सरकार की निरंकुशता पर कठोर अंकुश लग सकता है। इस अवसर पर जिला मंत्री शैलेन्द्र कुमार, पूर्व कोषाध्यक्ष डा. चन्द्रसेन, कमल नयन, अजीत कुमार, हीरा लाल, प्रधानाचार्य सूर्यनाथ यादव आदि उपस्थित रहे।

माध्यमिक शिक्षक संघ की बैठक सम्पन्न

जौनपुर। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ की जिला कार्यकारिणी बैठक जिला संयोजक राजेश कुमार की अध्यक्षता में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए श्री बलराम यादव जनसेवा इंटर कॉलेज कलीचाबाद में सम्पन्न हुई। बैठक में प्रदेश अध्यक्ष धर्मेंद्र यादव ने कहा कि विश्व गुरु बनने का दम भरने वाले देश व प्रदेश में शिक्षकों की स्थिति प्रवासी मजदूरों व बेरोजगारों से भी बदतर है।

क्योंकि इस कोरोना महामारी से बचाव के लिये जहां एक और प्रवासी मजदूरों और अभावग्रस्त के लिए खाद्यान्न एवं आर्थिक पैकेज की व्यवस्था के रूप में सराहनीय कार्य सरकार द्वारा किया गया है। वहीं दूसरी ओर देश के भविष्य का निर्माण करने वाले आर्थिक तंगी से जूझ रहे लाखों वित्तविहीन शिक्षकों और उनसे जुड़े परिवारों के लिए प्रदेश सरकार का रवैया बिल्कुल गैर जिम्मेदाराना है। कई महीनों से स्कूल कॉलेज बंद होने से शुल्क फीस न मिलने के कारण निजी स्कूलों के लाखों शिक्षकों की आर्थिक स्थिति बद से बदतर हो गई है।

रकार यदि समय रहते वित्तविहीन शिक्षकों के लिए बड़े आर्थिक पैकेज की व्यवस्था तत्काल नहीं करती है तो किसी बड़ी अनहोनी से इनकार नहीं किया जा सकता। जिला संयोजक राजेश कुमार ने कहा कि शिक्षकों की एकता से किसी भी सरकार की निरंकुशता पर कठोर अंकुश लग सकता है। इस अवसर पर जिला मंत्री शैलेन्द्र कुमार, पूर्व कोषाध्यक्ष डा. चन्द्रसेन, कमल नयन, अजीत कुमार, हीरा लाल, प्रधानाचार्य सूर्यनाथ यादव आदि उपस्थित रहे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Read More

Recent