Wednesday, August 10, 2022

वेतन का भुगतान न होने पर शिक्षक संघ ने राज्य मंत्री को सौपा ज्ञापन | #TEJASTODAY

जौनपुर। पूर्ण स्ववित्तपोषित महाविद्यालय शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. विवेक पाण्डेय के नेतृत्व में स्ववित्तपोषित शिक्षकों का एक प्रतिनिधि मंडल नगर राज्य मंत्री गिरीश चंद्र यादव से मुलाकात कर पूर्वांचल विश्वविद्यालय से सम्बद्ध स्ववित्तपोषित महाविद्यालयों द्वारा शिक्षकों एवं कर्मचारियों को अप्रैल माह से जुलाई माह तक वेतन भुगतान न करने के मुद्दे को प्रमुखता से उठाते हुए इस प्रकरण में हस्तक्षेप करने की माँग किया। संघ के अध्यक्ष डॉ. विवेक पाण्डेय ने माननीय मंत्री जी एवं बीजेपी के जिलाध्यक्ष को अवगत कराते हुए बताया कि महाविद्यालयों द्वारा वैश्विक महामारी कोविड 19 का बहाना बनाकर अपने कर्मचारियों को पिछले 4 माह से वेतन भुगतान नही किया गया है जबकि महाविद्यालयों द्वारा छात्रों से वैश्विक महामारी शुरू होने के पहले ही 2019 जुलाई में ही सभी महाविद्यालयों ने अपने छात्रों पूरे वर्ष की फीस अर्थात जुलाई 2020 तक कि फीस ले ली गयी है फरवरी माह तक तो सभी महाविद्यालयों ने अपने कर्मचारियों को वेतन दिया। किन्तु जैसे ही वैश्विक महामारी कोविड 19 की शुरूआत हुई इन महाविद्यालयों ने अपने कर्मचारियों को वेतन देना बंद कर दिया जबकि उत्तर प्रदेश शासन द्वारा शिक्षकों की समस्याओं का संज्ञान लेते हुए मार्च महीने में प्रदेश के सभी राज्य विश्वविद्यालयों को निर्देश निर्गत किया गया कि सभी विश्वविद्यालय अपने से सम्बद्ध स्ववित्तपोषित महाविद्यालयों में कार्यरत शिक्षको एवं कर्मचारियों के वेतन भुगतान की व्यवस्था सुनिश्चित कराए जिस पर लगभग 20 प्रतिशत महाविद्यालयों ने तो अपने कर्मचारियों का वेतन भुगतान किया लेकिन 80 प्रतिशत महाविद्यालयों अर्थात 600 से ज्यादा महाविद्यालयों ने पिछले 4 माह से अपने कर्मचारियों को वेतन नही दिए है। जिसके कारण इस समय कई हजार शिक्षक एवं शिक्षणेत्तर कर्मचारी एवं उनके पाल्यो के सम्मुख जीविकोपार्जन की गम्भीर समस्या उतपन्न हो गयी है। महाविद्यालयों द्वारा इस तरह के शोषण के पीछे विश्वविद्यालय प्रशासन की लापरवाही एवं महाविद्यालय और विश्वविद्यालय की मिलीभगत प्रमुख कारण है विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा स्ववित्तपोषित शिक्षको के प्रति उदासीनता के कारण शिक्षक एवं शिक्षणेत्तर कर्मचारी हताश और निराश है और उत्तर प्रदेश सरकार की भ्र्ष्टाचार के प्रति जीरो परसेंट टॉलरेंस की नीति के आधार पर उम्मीद लगाए बैठे है कि शासन इस तरह के भ्र्ष्टाचार पर सख्त कार्यवाही सुनिश्चित कराएगा और लगभग 15 हजार से ज्यादा कर्मचारियों के साथ न्याय करेगा। अध्यक्ष डॉ. विवेक पाण्डेय ने माँग किया कि इस प्रकरण को संज्ञान में लेते हुए उत्तर प्रदेश शासन द्वारा विश्वविद्यालय प्रशासन को आदेश निर्गत हो कि विश्वविद्यालय सभी महाविद्यालयों का पिछले 6 महीने के बैंक स्टेटमेंट की जाँच कराए एवं जिन महाविद्यालयों द्वारा इस तरह का भ्र्ष्टाचार किया गया है उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही सुनिश्चित कराई जाए। जिस पर माननीय मंत्री जी ने प्रतिनिधिमंडल को आस्वस्थ किया कि अतिशीघ्र ही इस प्रकरण को माननीय उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा के संज्ञान में लाकर ऐसे महाविद्यालयों जिन्होंने अपने कर्मचारियों को वेतन भुगतान नही किया है शासन द्वारा उन पर कार्यवाही सुनिश्चित कराई जाएगी। प्रतिनिधिमंडल में मुख्य रूप से डॉ. सिद्धार्थ शंकर सिंह, डॉ. अरविंद उपाध्याय, डॉ. एस पी सिंह इत्यादि सम्मिलित रहे।

जौनपुर। पूर्ण स्ववित्तपोषित महाविद्यालय शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. विवेक पाण्डेय के नेतृत्व में स्ववित्तपोषित शिक्षकों का एक प्रतिनिधि मंडल नगर राज्य मंत्री गिरीश चंद्र यादव से मुलाकात कर पूर्वांचल विश्वविद्यालय से सम्बद्ध स्ववित्तपोषित महाविद्यालयों द्वारा शिक्षकों एवं कर्मचारियों को अप्रैल माह से जुलाई माह तक वेतन भुगतान न करने के मुद्दे को प्रमुखता से उठाते हुए इस प्रकरण में हस्तक्षेप करने की माँग किया।

जौनपुर। अध्यक्ष नीलामी समिति/अपर प्रधान न्यायधीश तृतीय कुटुम्ब न्यायालय ने अवगत कराया है कि जनपद न्यायालय परिसर स्थित समस्त कैंटिन, पान शॉप व स्टेशनरी की दुकान एवं वाहन स्टैंड की सार्वजनिक नीलामी 10 जुलाई को 2 बजे दिन में परिसर स्थित सभागार में की जायेगी।

संघ के अध्यक्ष डॉ. विवेक पाण्डेय ने माननीय मंत्री जी एवं बीजेपी के जिलाध्यक्ष को अवगत कराते हुए बताया कि महाविद्यालयों द्वारा वैश्विक महामारी कोविड 19 का बहाना बनाकर अपने कर्मचारियों को पिछले 4 माह से वेतन भुगतान नही किया गया है जबकि महाविद्यालयों द्वारा छात्रों से वैश्विक महामारी शुरू होने के पहले ही 2019 जुलाई में ही सभी महाविद्यालयों ने अपने छात्रों पूरे वर्ष की फीस अर्थात जुलाई 2020 तक कि फीस ले ली गयी है फरवरी माह तक तो सभी महाविद्यालयों ने अपने कर्मचारियों को वेतन दिया।

जफराबाद, जौनपुर। स्थानीय कस्बे के मोहल्ला नासही स्थित श्री शिव मंदिर में शनिवार को नाग पंचमी का पर्व मंदिर जीर्णोधारक अवकाश प्राप्त वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी प्रेमचन्द प्रजापति एवं क्षेत्रवासियों द्वारा सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए जलाभिषेक एवं भजन-कीर्तन के साथ धूमधाम से मनाया गया। शिव मंदिर में शाम को आयोजित सुन्दरकाण्ड पाठ एवं भजन कीर्तन कार्यक्रम में शामिल कीर्तनकारों ने एक से बढ़कर एक भगवान शिव के कीर्ति से जुड़े भजन प्रस्तुत कर श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। कार्यक्रम का शुभारम्भ हनुमान चालीसा एवं सुन्दरकाण्ड पाठ से हुआ। समापन श्री हनुमान एवं भगवान शंकर के आरती एवं प्रसाद वितरण के साथ हुआ। आभार पत्रकार बृजनन्दन स्वरूप ने व्यक्त किया। इस अवसर पर मास्टर प्रेमचन्द बेनवंशी, राजेन्द्र साहू, डा. राधेश्याम, सुनील प्रजापति, फिरतू राम, फुलारे प्रजापति, अशोक चौरसिया, मनीष साहू, ज्ञान प्रकाश ज्ञानू, राम संजीवन, शिव ज्योति, ट्वींकल आदि उपस्थित रहे।

किन्तु जैसे ही वैश्विक महामारी कोविड 19 की शुरूआत हुई इन महाविद्यालयों ने अपने कर्मचारियों को वेतन देना बंद कर दिया जबकि उत्तर प्रदेश शासन द्वारा शिक्षकों की समस्याओं का संज्ञान लेते हुए मार्च महीने में प्रदेश के सभी राज्य विश्वविद्यालयों को निर्देश निर्गत किया गया कि सभी विश्वविद्यालय अपने से सम्बद्ध स्ववित्तपोषित महाविद्यालयों में कार्यरत शिक्षको एवं कर्मचारियों के वेतन भुगतान की व्यवस्था सुनिश्चित कराए जिस पर लगभग 20 प्रतिशत महाविद्यालयों ने तो अपने कर्मचारियों का वेतन भुगतान किया लेकिन 80 प्रतिशत महाविद्यालयों अर्थात 600 से ज्यादा महाविद्यालयों ने पिछले 4 माह से अपने कर्मचारियों को वेतन नही दिए है।

केराकत, जौनपुर। क्षेत्र के शिवरामपुर खुर्द ग्राम में बीती रात जमीनी विवाद को लेकर दो पक्षों में जमकर मारपीट हुई। जिसमें महिलाओं समेत कुल 9 लोग घायल हो गये। जिनका उपचार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र केराकत में चल रहा है। पुलिस को दोनों पक्षों ने प्रार्थना पत्र दिए। घायलों में प्रथम पक्ष से संजय यादव 40 पुत्र लालाजी यादव, राजू यादव 15 भैयालाल, बबलू 30 पुत्र लालजी यादव, राजेश 25 पुत्र भैयालाल रहें। वहीं दूसरे पक्ष से घायलों में तारा देवी 45 पत्नी प्रभुनाथ, राजू 22 पुत्र शिवशंकर, शिला 26 पुत्री अशोक, अंजनी 17 पुत्र प्रभुनाथ, किसन 18 पुत्र अरविंद रहें।

जिसके कारण इस समय कई हजार शिक्षक एवं शिक्षणेत्तर कर्मचारी एवं उनके पाल्यो के सम्मुख जीविकोपार्जन की गम्भीर समस्या उतपन्न हो गयी है। महाविद्यालयों द्वारा इस तरह के शोषण के पीछे विश्वविद्यालय प्रशासन की लापरवाही एवं महाविद्यालय और विश्वविद्यालय की मिलीभगत प्रमुख कारण है विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा स्ववित्तपोषित शिक्षको के प्रति उदासीनता के कारण शिक्षक एवं शिक्षणेत्तर कर्मचारी हताश और निराश है और उत्तर प्रदेश सरकार की भ्र्ष्टाचार के प्रति जीरो परसेंट टॉलरेंस की नीति के आधार पर उम्मीद लगाए बैठे है कि शासन इस तरह के भ्र्ष्टाचार पर सख्त कार्यवाही सुनिश्चित कराएगा और लगभग 15 हजार से ज्यादा कर्मचारियों के साथ न्याय करेगा।

चंदन अग्रहरि शाहगंज, जौनपुर। कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत बीबीगंज चौकी क्षेत्र में जमीनी विवाद को लेकर दो पक्षों में जमकर मारपीट हुए मारपीट में कुल दस लोग गंभीर रूप से घायल हो गये। सभी घायलों को इलाज हेतु राजकीय चिकित्सालय में भर्ती कराया। क्षेत्र के बीबीगंज चौकी अन्तर्गत लतीरपुर गांव में बीती रात जमीनी विवाद को लेकर दो पक्षों में जमकर लाठी-डंडे व ईट पत्थर चले जिसमें 54 वर्षीय सुरेश पुत्र बनवारी 27 वर्षीय जितेन्द्र पुत्र लक्ष्मीशंकर 60 वर्षीय राम सूरत 35 वर्षीय रामचन्दर पुत्रगण परसोतम 17 वर्षीय निलेश पुत्र राम सूरत 45 वर्षीय इन्दू पुत्र वीरेन्द्र 18 वर्षीय सूरज पुत्र सालिक 35 वर्षीय वेचन पुत्र महगू 24 वर्षीय बिन्दु पुत्र मुन्नी लाल व 22 वर्षीय अजय पुत्र ओमकार गंभीर रूप से घायल हो गये। सभी घायलों का इलाज राजकीय चिकित्सालय में कराया गया। भुक्तभोगी ने घटना की सूचना कोतवाली पुलिस को दे दी है।

अध्यक्ष डॉ. विवेक पाण्डेय ने माँग किया कि इस प्रकरण को संज्ञान में लेते हुए उत्तर प्रदेश शासन द्वारा विश्वविद्यालय प्रशासन को आदेश निर्गत हो कि विश्वविद्यालय सभी महाविद्यालयों का पिछले 6 महीने के बैंक स्टेटमेंट की जाँच कराए एवं जिन महाविद्यालयों द्वारा इस तरह का भ्र्ष्टाचार किया गया है उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही सुनिश्चित कराई जाए।

पंकज बिंद महाराजगंज, जौनपुर। स्थानीय क्षेत्र के ग्रामसभा दिलशादपुर निवासी श्री राजेश विश्वकर्मा को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस कमेटी के विस्तार में के जिला सचिव की कमान सौंपी गई। जिससे उनके चाहने वालों में खुशी की लहर दौड़ की गई श्री विश्वकर्मा ने अपने वक्तव्य में कहा कि प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार सिंह लल्लू मुझ पर भरोसा जताया इसके लिए उन्होंने धन्यवाद ज्ञापित किया साथ ही का कहा कि मुझे जो जिम्मेदारी दी गई है मै अपनी पूरी निष्ठा और तन मन धन के साथ आगे बढ़ाने का कार्य करूंगा।

जिस पर माननीय मंत्री जी ने प्रतिनिधिमंडल को आस्वस्थ किया कि अतिशीघ्र ही इस प्रकरण को माननीय उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा के संज्ञान में लाकर ऐसे महाविद्यालयों जिन्होंने अपने कर्मचारियों को वेतन भुगतान नही किया है शासन द्वारा उन पर कार्यवाही सुनिश्चित कराई जाएगी।
प्रतिनिधिमंडल में मुख्य रूप से डॉ. सिद्धार्थ शंकर सिंह, डॉ. अरविंद उपाध्याय, डॉ. एस पी सिंह इत्यादि सम्मिलित रहे।

कोरोना वायरस के फैलते संक्रमण के बीच एक अच्छी खबर सामने आई है. कोरोना मरीजों की रिकवरी रेट में 63.9 फीसदी का इजाफा हुआ है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक कोरोना से होने वाली मौतों का रेशियों इस वक्त 3.45 फीसदी है यानी ठीक हो रहे मरीजों की तुलना में काफी कम। देश में कोरोना के मामले 14 लाख के पार पहुंच गए हैं, पिछले 24 घंटों में अब तक के सबसे ज्यादा 49 हजार 931 मामले सामने आए हैं जबकि 708 लोगों की मौत हो गई है, इसी के साथ देश में कोरोना के कुल मामलों की संख्या 14 लाख के पार पहुंच गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Read More

Recent