Thursday, December 1, 2022
Advertisement

राजन तिवारी बने कांग्रेस विधि विभाग के जिलाध्यक्ष

Must Read

- Advertisement -

जौनपुर। जिले के युवा कांग्रेस नेता एवं दीवानी न्यायालय के अधिवक्ता राजन तिवारी को विधि विभाग उत्तर प्रदेश कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गंगा सिंह ने विधि विभाग का जिलाध्यक्ष बनाया है। गौरतलब है कि राजन का परिवार चार पीढ़ियों से कांग्रेस पार्टी में अपना योगदान देता आ रहा है। उनके परदादा पं. भगवती दीन तिवारी मशहूर स्वाधीनता संग्राम सेनानी एवं भूतपूर्व विधायक थे। वर्ष 1928 में जिला कांग्रेस कमेटी के कोषाध्यक्ष, 1931 में जिला मंत्री, 1939 में जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष, 1952 में गडवारा से विधायक और 1962 में रारी से विधायक निर्वाचित हुए। राजन तिवारी की दादी स्व. गिरिजा देवी तिवारी एक जुझारू कांग्रेसी नेत्री रही। वे जिले में महिला कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष, जिला पंचायत सदस्य, उ.प्र. कांग्रेस कमेटी की 35 वर्षों तक लगातार सदस्य और जिला में इंदिरा कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष भी रही। राजन के पिता स्व. रत्नेश कुमार तिवारी अपने छात्र जीवन से ही राष्ट्रीय छात्र संगठन से जुड़ गए थे। वे राष्ट्रीय छात्र संगठन के जिलाध्यक्ष, भारतीय युवा कांग्रेस के अध्यक्ष, शहर कांग्रेस कमेटी के महामंत्री, जिला कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष और केंद्रीय सहकारी उपभोक्ता भंडार के चेयरमैन भी रहे। वहीं राजन के फूफा स्व. श्रीपति मिश्रा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं उत्तर प्रदेश विधानसभा के स्पीकर भी रहे। बता दें कि राजन तिवारी ने अपनी स्कूली शिक्षा सेंट जॉन्स जौनपुर एवं व ला की पढ़ाई दिल्ली-एनसीआर से पूरी की। उन्होंने लॉ में स्नातकोत्तर भी किया है। सन् 2010 में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण कुमार सिंह ‘मुन्ना’ द्वारा श्री तिवारी को कांग्रेस की प्राथमिकता सदस्य दिलाई गई। श्री तिवारी ने कहा कि पार्टी ने जो जिम्मेदारी उन्हें सौंपी है उसका वह निष्ठापूर्वक निर्वाह करेंगे। पार्टी को मजबूत करने का कार्य वह हमेशा करते रहेंगे। पार्टी के लिए संघर्ष करते रहेंगे।

जौनपुर। जिले के युवा कांग्रेस नेता एवं दीवानी न्यायालय के अधिवक्ता राजन तिवारी को विधि विभाग उत्तर प्रदेश कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गंगा सिंह ने विधि विभाग का जिलाध्यक्ष बनाया है। गौरतलब है कि राजन का परिवार चार पीढ़ियों से कांग्रेस पार्टी में अपना योगदान देता आ रहा है। उनके परदादा पं. भगवती दीन तिवारी मशहूर स्वाधीनता संग्राम सेनानी एवं भूतपूर्व विधायक थे। वर्ष 1928 में जिला कांग्रेस कमेटी के कोषाध्यक्ष, 1931 में जिला मंत्री, 1939 में जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष, 1952 में गडवारा से विधायक और 1962 में रारी से विधायक निर्वाचित हुए।

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

सुइथाकला, जौनपुर। सरपतहां थाना क्षेत्र के डीह असरफाबाद गांव में हुई दुर्घटना में घायल बाइक सवार वृद्ध की इलाज के दौरान मौत हो गयी जबकि गम्भीर रूप से घायल दूसरे का इलाज बीएचयू में चल रहा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार की शाम 7 बजे थाना क्षेत्र के मिर्जापुर निवासी राम नाथ यादव (60) पुत्र आनन्द यादव कम्मरपुर निवासी मनोज सिंह पुत्र महेन्द्र सिंह के साथ सूरापुर की तरफ से आ रहे थे कि उक्त स्थान पर अचानक सड़क पर आए सांड़ से टकरा कर गम्भीर रूप से जख्मी हो गए। स्थानीय लोग तत्काल घायलों को उपचार हेतु सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सुइथाकला ले गये जहां डाक्टरों ने प्राथमिक उपचार के उपरांत बेहतर इलाज के लिए दोनों को जिला अस्पताल रेफर कर दिया। परिजन इलाज के लिए जौनपुर ले जा रहे थे कि रास्ते में हीं राम नाथ यादव की मौत हो गयी जबकि गम्भीर रूप से घायल दूसरे का इलाज बीएचयू में चल रहा है। मौत की खबर लगते हीं परिजनों में कोहराम मच गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर आवश्यक कार्यवाही करने के उपरांत अन्त्यपरीक्षण हेतु भेज दिया।

राजन तिवारी की दादी स्व. गिरिजा देवी तिवारी एक जुझारू कांग्रेसी नेत्री रही। वे जिले में महिला कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष, जिला पंचायत सदस्य, उ.प्र. कांग्रेस कमेटी की 35 वर्षों तक लगातार सदस्य और जिला में इंदिरा कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष भी रही। राजन के पिता स्व. रत्नेश कुमार तिवारी अपने छात्र जीवन से ही राष्ट्रीय छात्र संगठन से जुड़ गए थे।

जौनपुर। अध्यक्ष नीलामी समिति/अपर प्रधान न्यायधीश तृतीय कुटुम्ब न्यायालय ने अवगत कराया है कि जनपद न्यायालय परिसर स्थित समस्त कैंटिन, पान शॉप व स्टेशनरी की दुकान एवं वाहन स्टैंड की सार्वजनिक नीलामी 10 जुलाई को 2 बजे दिन में परिसर स्थित सभागार में की जायेगी।

वे राष्ट्रीय छात्र संगठन के जिलाध्यक्ष, भारतीय युवा कांग्रेस के अध्यक्ष, शहर कांग्रेस कमेटी के महामंत्री, जिला कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष और केंद्रीय सहकारी उपभोक्ता भंडार के चेयरमैन भी रहे। वहीं राजन के फूफा स्व. श्रीपति मिश्रा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं उत्तर प्रदेश विधानसभा के स्पीकर भी रहे। बता दें कि राजन तिवारी ने अपनी स्कूली शिक्षा सेंट जॉन्स जौनपुर एवं व ला की पढ़ाई दिल्ली-एनसीआर से पूरी की। उन्होंने लॉ में स्नातकोत्तर भी किया है।

चंदन अग्रहरि शाहगंज, जौनपुर। स्थानीय कोतवाली क्षेत्र के अलग-अलग स्थानों पर जमीनी विवाद में हुई मारपीट में सात लोग गंभीर रूप से घायल हो गये। घायलों को राजकीय चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। क्षेत्र के ताखा पूरब गांव में गुरुवार को दो पक्षों में जमीनी विवाद में हुई मारपीट में एक पक्ष के 42 वर्षीय साहब लाल पुत्र विकास, 30 वर्षीय मीरा पत्नी शोभनाथ, 32 वर्षीय इन्द्रवती पत्नी साहब लाल, 27 वर्षीय रिंका पत्नी रमाकांत व 60 वर्षीय पंचकुला पत्नी अमरदेव घायल हो गये। वहीं सुरिस गांव में मामूली विवाद को लेकर दो पक्षों में मारपीट हो गई। जिसमें 30 वर्षीय विजय कुमार सिंह पुत्र कंचन सिंह व 28 वर्षीय आशीष पुत्र सूरजभान सिंह घायल हो गए। घायलों को राजकीय चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। वहीं भुक्तभोगियों की तहरीर पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

सन् 2010 में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण कुमार सिंह ‘मुन्ना’ द्वारा श्री तिवारी को कांग्रेस की प्राथमिकता सदस्य दिलाई गई। श्री तिवारी ने कहा कि पार्टी ने जो जिम्मेदारी उन्हें सौंपी है उसका वह निष्ठापूर्वक निर्वाह करेंगे। पार्टी को मजबूत करने का कार्य वह हमेशा करते रहेंगे। पार्टी के लिए संघर्ष करते रहेंगे।

जौनपुर। जिले में बुधवार को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का जन्मदिन धूमधाम से मनाया गया। सिकरारा क्षेत्र के शाहपुर स्थित बजरंग बली मंदिर कुटी परिसर में सपा नेता लकी यादव ने पदाधिकारियों के साथ केक काटकर राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव का जन्मदिन मनाया। इसके साथ ही बच्चों को वस्त्र, अनाज व फल वितरित किया। उन्होंने कहा कि किसान, गांव, गरीब की लड़ाई केवल समाजवादी पार्टी ही लड़ सकती है। इस अवसर मोनू यदुवंशी, सोनू यदुवंशी, केशजीत यादव, राहुल यादव, रामनाथ यादव, तेजू यादव प्रधान, मंगल यादव, शुभम, आनन्द, मुलायम, शशिकांत, संस्कार, मेवा आदि उपस्थित रहे। तेजस टूडे न्यूज। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार गैंगस्टर विकास दुबे को उज्जैन के महाकाल मंदिर में दर्शन करते हुए गिरफ्तार कर लिया गया है। बता दें, बीते कई दिनों से दुबे फरार चल रहा था। जिसकी तलाश कई राज्यों में उत्तर प्रदेश की पुलिस कर रही थी। बता दें, विकास पर 8 पुलिसकर्मियों की हत्या करने का आरोप है। आपको बता दे कि बीते शुक्रवार को उत्तर प्रदेश पुलिस, कानपुर के चौबेपुर में हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने पहुंची थी। जहां विकास दुबे ने अपने साथियों के साथ मिलकर पुलिसवालों पर हमला कर दिया था। जिसमें प्रदेश के डिप्टी SP देवेंद्र मिश्रा समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे पर 60 आपराधिक मामले दर्ज है।

- Advertisement -

अब आप भी tejastoday.com Apps इंस्टॉल कर अपने क्षेत्र की खबरों को tejastoday.com पर कर सकते है पोस्ट

spot_imgspot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

यातायात नियमों के प्रति विद्यार्थियों को किया गया जागरूक

यातायात नियमों के प्रति विद्यार्थियों को किया गया जागरूक अनिल कश्यप हापुड़। यातायात माह के अंतर्गत जेएमएस वर्ल्ड स्कूल में सड़क...
- Advertisement -spot_img

More Articles Like This