Wednesday, August 17, 2022

बीएचयू में दम तोड़ने वाले कारोबारी की पत्नी और बहू भी कोरोना संक्रमित

मुस्ताक आलम वाराणसी। बीएचयू में दम तोड़ने वाले कारोबारी की पत्नी और बहू भी कोरोना संक्रमित पाए गए। कारोबारी की मौत के बाद उसके परिवार और घर आने-जाने वालों का नमूना लिया गया था। बीएचयू से आई रिपोर्ट में दोनों को पॉजिटिव पाया गया। कारोबारी के मोहल्ले को पहले से सील कर एक-एक घर के लोगों की स्क्रीनिंग करने के साथ मिलने वालों की नमूना लिया जा रहा है। कोरोना पॉजिटिव दो और मामले सामने आने के बाद वाराणसी में संक्रमित होने वालों की संख्या 9 हो गई है। राहत की बात यह है कि सबसे पहले संक्रमित हुए दो युवक अब ठीक हो चुके हैं। दोनों को उसके घर भेजा जा चुका है। बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल की इमरजेंसी में 2 अप्रैल को बुखार की शिकायत पर गंगापुर के 55 वर्षीय कारोबारी को लाया गया था। यहां स्वाब लार का नमूना लेकर कोरोना प्राथमिक वार्ड में भर्ती कर लिया गया। अगले दिन हालत बिगड़ने में आईसीयू में लाया गया। यहां कारोबारी ने दम तोड़ दिया तब तक कोरोना रिपोर्ट नहीं आ सकी थी। शव को सुरक्षित रखवा दिया गया। विश्वविद्यालय और अस्पताल प्रशासन ने मौत का कारण मल्टी आर्गन फेल्योर बताया। 5 अप्रैल की सुबह कारोबारी की रिपोर्ट पॉजिटिव आने से हड़कंप मच गया। सबसे पहले उसके घर और आस-पास की गलियों को तत्काल प्रभाव से सील कर दिया गया।

मुस्ताक आलम
वाराणसी। बीएचयू में दम तोड़ने वाले कारोबारी की पत्नी और बहू भी कोरोना संक्रमित पाए गए। कारोबारी की मौत के बाद उसके परिवार और घर आने-जाने वालों का नमूना लिया गया था। बीएचयू से आई रिपोर्ट में दोनों को पॉजिटिव पाया गया। कारोबारी के मोहल्ले को पहले से सील कर एक-एक घर के लोगों की स्क्रीनिंग करने के साथ मिलने वालों की नमूना लिया जा रहा है।

कोरोना पॉजिटिव दो और मामले सामने आने के बाद वाराणसी में संक्रमित होने वालों की संख्या 9 हो गई है। राहत की बात यह है कि सबसे पहले संक्रमित हुए दो युवक अब ठीक हो चुके हैं। दोनों को उसके घर भेजा जा चुका है। बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल की इमरजेंसी में 2 अप्रैल को बुखार की शिकायत पर गंगापुर के 55 वर्षीय कारोबारी को लाया गया था। यहां स्वाब लार का नमूना लेकर कोरोना प्राथमिक वार्ड में भर्ती कर लिया गया।

Varanasi News : वाराणसी में पाया गया कोरोना वायरस का पहला मरीज, जौनपुर के लोगों में दहशत

अगले दिन हालत बिगड़ने में आईसीयू में लाया गया। यहां कारोबारी ने दम तोड़ दिया तब तक कोरोना रिपोर्ट नहीं आ सकी थी। शव को सुरक्षित रखवा दिया गया। विश्वविद्यालय और अस्पताल प्रशासन ने मौत का कारण मल्टी आर्गन फेल्योर बताया। 5 अप्रैल की सुबह कारोबारी की रिपोर्ट पॉजिटिव आने से हड़कंप मच गया। सबसे पहले उसके घर और आस-पास की गलियों को तत्काल प्रभाव से सील कर दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Read More

Recent