इस भोजपुरी अभिनेता के पिता का निधन

जलालपुर, जौनपुर।  भोजपुरी अभिनेता चन्दन सेठ के पिता सुशील कुमार वर्मा का गुरूवार की दोपहर में निधन हो गया। इसकी सूचना मिलते ही पूरे गांव में शोक की लहर दौड़ गई। लोग फोन के माध्यम से शोक संदेश व सांत्वना दे रहे हैं। केराकत तहसील अंतर्गत त्रिलोचन महादेव बाजार निवासी भोजपुरी अभिनेता चन्दन सेठ के 68 वर्षीय पिता सुशील कुमार वर्मा विगत कई माह से बीमार चल रहे थे। उनका कुछ माह पूर्व बीएचयू में इलाज चल रहा था। तबीयत में सुधार नहीं होते देख पिता ने घर में अपना शरीर त्यागने की अंतिम इच्छा जताई, जिस पर विगत 4 माह पहले उनके पिता को त्रिलोचन महादेव उनके पैतृक निवास पर लाया गया। गुरूवार दोपहर में करीब 3 बजे उनका निधन हो गया। उनके पिता व्यवसायी के साथ-साथ सामाजिक कार्यों में रूचि रखते थे। अभिनेता चन्दन ने अपने जीवन में पिता को ही अपना गुरु माना था। पिता के ही सिखाएं मार्ग पर आगे बढ़ते हुए मुकाम हासिल किया। गुरूवार को कोरोना वायरस के चलते लाकडाउन को देखते हुए शव यात्रा मणिकर्णिका घाट तक गई, जहां उनके बड़े बेटे विनय वर्मा ने मुखाग्नि दी। तीन भाई विनय वर्मा, अनुराग वर्मा और चन्दन सेठ और एक बहन हैं। अभिनेता के बड़े भाई विनय वर्मा पेसे से अध्यापक हैं और दूसरे नंबर के भाई अनुराग वर्मा त्रिलोचन बाजार के उद्योग व्यापार मंडल प्रतिनिधि के अध्यक्ष हैं।

जलालपुर, जौनपुर। भोजपुरी अभिनेता चन्दन सेठ के पिता सुशील कुमार वर्मा का गुरूवार की दोपहर में निधन हो गया। इसकी सूचना मिलते ही पूरे गांव में शोक की लहर दौड़ गई। लोग फोन के माध्यम से शोक संदेश व सांत्वना दे रहे हैं। केराकत तहसील अंतर्गत त्रिलोचन महादेव बाजार निवासी भोजपुरी अभिनेता चन्दन सेठ के 68 वर्षीय पिता सुशील कुमार वर्मा विगत कई माह से बीमार चल रहे थे। उनका कुछ माह पूर्व बीएचयू में इलाज चल रहा था। तबीयत में सुधार नहीं होते देख पिता ने घर में अपना शरीर त्यागने की अंतिम इच्छा जताई, जिस पर विगत 4 माह पहले उनके पिता को त्रिलोचन महादेव उनके पैतृक निवास पर लाया गया। गुरूवार दोपहर में करीब 3 बजे उनका निधन हो गया।

उनके पिता व्यवसायी के साथ-साथ सामाजिक कार्यों में रूचि रखते थे। अभिनेता चन्दन ने अपने जीवन में पिता को ही अपना गुरु माना था। पिता के ही सिखाएं मार्ग पर आगे बढ़ते हुए मुकाम हासिल किया। गुरूवार को कोरोना वायरस के चलते लाकडाउन को देखते हुए शव यात्रा मणिकर्णिका घाट तक गई, जहां उनके बड़े बेटे विनय वर्मा ने मुखाग्नि दी।
तीन भाई विनय वर्मा, अनुराग वर्मा और चन्दन सेठ और एक बहन हैं। अभिनेता के बड़े भाई विनय वर्मा पेसे से अध्यापक हैं और दूसरे नंबर के भाई अनुराग वर्मा त्रिलोचन बाजार के उद्योग व्यापार मंडल प्रतिनिधि के अध्यक्ष हैं।

आप लोगों भरपूर सहयोग और प्यार की वजह से तेजस टूडे डॉट कॉम आज Google News और Dailyhunt जैसे बड़े प्लेटर्फाम पर जगह बना लिया है। आज इसकी पाठक संख्या लगातार बढ़ रही है और इसके लगभग डेढ़ करोड़ विजिटर हो गये है। आपका प्यार ऐसे ही मिलता रहा तो यह पूर्वांचल के साथ साथ भारत में अपना एक अलग पहचान बना लेगा।
deepak jaiswal 7007529997
आप लोगों भरपूर सहयोग और प्यार की वजह से तेजस टूडे डॉट कॉम आज Google News और Dailyhunt जैसे बड़े प्लेटर्फाम पर जगह बना लिया है। आज इसकी पाठक संख्या लगातार बढ़ रही है और इसके लगभग डेढ़ करोड़ विजिटर हो गये है। आपका प्यार ऐसे ही मिलता रहा तो यह पूर्वांचल के साथ साथ भारत में अपना एक अलग पहचान बना लेगा।