कोटेदार संघ के प्रदेश अध्यक्ष पर अनियमितता के आरोप में लगा अर्थदण्ड

जौनपुर। कोटेदारों पर मनमानी के आरोप में सिलसिलेवार कार्यवाही प्रचलन में है। उपजिलाधिकारी बदलापुर अंजनी सिंह ने बताया कि संकट की इस घड़ी में जहां पूरा देश इमदाद में लगा है, वहीं किसी भी जिम्मेदार द्वारा बरती जा रही मनमानी क्षम्य नहीं होगी। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश के कोटेदार संघ के प्रान्तीय अध्यक्ष एवं बदलापुर ब्लाक के पुरानी बाजार के कोटेदार राजेश तिवारी पर सार्वजनिक वितरण प्रणाली में अनियमितता का आरोप लगा जो जांचोपरांत सिद्ध हो गया। इस पर उन्होंने बतौर जुर्माना 2 हजार रूपये का अर्थदण्ड लगाया है। उपजिलाधिकारी श्री सिंह एवं पूर्ति निरीक्षक एनके यादव ने उनकी वितरण प्रणाली की दुकान का बीते 1 मार्च को निरीक्षण किया था। निरीक्षण के दौरान वितरण शून्य पाया गया था। अधिकारीद्वय ने कोटेदार राजेश तिवारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया था। नोटिस के जबाब से संतुष्ट न होने पर उपजिलाधिकारी ने 2 हजार रूपये का अर्थदण्ड लगाया। इसी क्रम में क्षेत्र के सरायगौरा के कोटेदार राम आसरे पर भी उपजिलाधिकारी ने 2 हजार रूपये का अर्थदण्ड लगाया है। इसके पहले अनियमितता के आरोप में सवंसा के कोटे की दुकान अनियमितता के आरोप में निलम्बित की जा चुकी है।

जौनपुर। कोटेदारों पर मनमानी के आरोप में सिलसिलेवार कार्यवाही प्रचलन में है। उपजिलाधिकारी बदलापुर अंजनी सिंह ने बताया कि संकट की इस घड़ी में जहां पूरा देश इमदाद में लगा है, वहीं किसी भी जिम्मेदार द्वारा बरती जा रही मनमानी क्षम्य नहीं होगी। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश के कोटेदार संघ के प्रान्तीय अध्यक्ष एवं बदलापुर ब्लाक के पुरानी बाजार के कोटेदार राजेश तिवारी पर सार्वजनिक वितरण प्रणाली में अनियमितता का आरोप लगा जो जांचोपरांत सिद्ध हो गया।

इस पर उन्होंने बतौर जुर्माना 2 हजार रूपये का अर्थदण्ड लगाया है। उपजिलाधिकारी श्री सिंह एवं पूर्ति निरीक्षक एनके यादव ने उनकी वितरण प्रणाली की दुकान का बीते 1 मार्च को निरीक्षण किया था। निरीक्षण के दौरान वितरण शून्य पाया गया था। अधिकारीद्वय ने कोटेदार राजेश तिवारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया था। नोटिस के जबाब से संतुष्ट न होने पर उपजिलाधिकारी ने 2 हजार रूपये का अर्थदण्ड लगाया। इसी क्रम में क्षेत्र के सरायगौरा के कोटेदार राम आसरे पर भी उपजिलाधिकारी ने 2 हजार रूपये का अर्थदण्ड लगाया है। इसके पहले अनियमितता के आरोप में सवंसा के कोटे की दुकान अनियमितता के आरोप में निलम्बित की जा चुकी है।