राजेश स्नेह ट्रस्ट ऑफ एजुकेशन ने प्रवासियों के लिये शुरू किया 10 दिवसीय अभियान

जौनपुर। राजेश स्नेह ट्रस्ट ऑफ एजुकेशन द्वारा स्थापित नया जीवन दिव्यांग हेतु स्कूल एवं पुनर्वास केन्द्र रूहट्टा के बैनर तले नगर के पालिटेक्निक चौराहे पर सड़क पर चल रहे भूखे-प्यासे प्रवासी मजदूरों के लिये निःशुल्क भोजन-पानी की व्यवस्था की गयी। साथ ही छोटे बच्चों के लिये दूध वितरण भी हुआ। यह कार्यक्रम 10 दिवसीय है जिसका शुभारम्भ गुरूवार को किया गया। भोजन वितरण कर रही सामाजिक कार्यकर्ता श्रीमती शोभना स्मृति ने कहा कि यह अभियान 10 दिनों तक अनवरत चलेगा। इससे प्रवासियों को खाना-पानी सहित छोटे बच्चों की समस्या नहीं होगी। इसी क्रम में उदय प्रताप सिंह ने कहा कि इस महामारी में परेशान मजबूर प्रवासी मजदूरों जो हफ्तों पैदल ट्रक और बसों से बिना खाना खाये और छोटे बच्चे बिना दूध के चले आ रहे हैं। इनकी मदद के लिये समाज के हर आदमी को आगे आना चाहिये। सबकी नैतिक जिम्मेदारी बनती है कि इनकी मदद की जाय। इस अवसर पर पंकज मोदनवाल, रजनीश गुप्ता, सुबाष मोदनवाल, देव गुप्ता सहित तमाम लोग सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुये मौजूद रहे।

जौनपुर। राजेश स्नेह ट्रस्ट ऑफ एजुकेशन द्वारा स्थापित नया जीवन दिव्यांग हेतु स्कूल एवं पुनर्वास केन्द्र रूहट्टा के बैनर तले नगर के पालिटेक्निक चौराहे पर सड़क पर चल रहे भूखे-प्यासे प्रवासी मजदूरों के लिये निःशुल्क भोजन-पानी की व्यवस्था की गयी। साथ ही छोटे बच्चों के लिये दूध वितरण भी हुआ। यह कार्यक्रम 10 दिवसीय है जिसका शुभारम्भ गुरूवार को किया गया।

भोजन वितरण कर रही सामाजिक कार्यकर्ता श्रीमती शोभना स्मृति ने कहा कि यह अभियान 10 दिनों तक अनवरत चलेगा। इससे प्रवासियों को खाना-पानी सहित छोटे बच्चों की समस्या नहीं होगी। इसी क्रम में उदय प्रताप सिंह ने कहा कि इस महामारी में परेशान मजबूर प्रवासी मजदूरों जो हफ्तों पैदल ट्रक और बसों से बिना खाना खाये और छोटे बच्चे बिना दूध के चले आ रहे हैं।

इनकी मदद के लिये समाज के हर आदमी को आगे आना चाहिये। सबकी नैतिक जिम्मेदारी बनती है कि इनकी मदद की जाय। इस अवसर पर पंकज मोदनवाल, रजनीश गुप्ता, सुबाष मोदनवाल, देव गुप्ता सहित तमाम लोग सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुये मौजूद रहे।

जौनपुर। राजेश स्नेह ट्रस्ट ऑफ एजुकेशन द्वारा स्थापित नया जीवन दिव्यांग हेतु स्कूल एवं पुनर्वास केन्द्र रूहट्टा के बैनर तले नगर के पालिटेक्निक चौराहे पर सड़क पर चल रहे भूखे-प्यासे प्रवासी मजदूरों के लिये निःशुल्क भोजन-पानी की व्यवस्था की गयी। साथ ही छोटे बच्चों के लिये दूध वितरण भी हुआ। यह कार्यक्रम 10 दिवसीय है जिसका शुभारम्भ गुरूवार को किया गया। भोजन वितरण कर रही सामाजिक कार्यकर्ता श्रीमती शोभना स्मृति ने कहा कि यह अभियान 10 दिनों तक अनवरत चलेगा। इससे प्रवासियों को खाना-पानी सहित छोटे बच्चों की समस्या नहीं होगी। इसी क्रम में उदय प्रताप सिंह ने कहा कि इस महामारी में परेशान मजबूर प्रवासी मजदूरों जो हफ्तों पैदल ट्रक और बसों से बिना खाना खाये और छोटे बच्चे बिना दूध के चले आ रहे हैं। इनकी मदद के लिये समाज के हर आदमी को आगे आना चाहिये। सबकी नैतिक जिम्मेदारी बनती है कि इनकी मदद की जाय। इस अवसर पर पंकज मोदनवाल, रजनीश गुप्ता, सुबाष मोदनवाल, देव गुप्ता सहित तमाम लोग सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुये मौजूद रहे।
Deepak Jaiswal 7007529997, 9918557796
आप लोगों भरपूर सहयोग और प्यार की वजह से तेजस टूडे डॉट कॉम आज Google News और Dailyhunt जैसे बड़े प्लेटर्फाम पर जगह बना लिया है। आज इसकी पाठक संख्या लगातार बढ़ रही है और इसके लगभग 2 करोड़ विजिटर हो गये है। आपका प्यार ऐसे ही मिलता रहा तो यह पूर्वांचल के साथ साथ भारत में अपना एक अलग पहचान बना लेगा।