कक्षा तीन की छात्रा को पुलिस वालों ने किया सलाम, आखिर क्या हुआ ऐसा

दिलीप कुमार जौनपुर। कोरोना वायरस से चल रही जंग में जहां तमाम पूंजीपति, व्यवसायी एवं बड़े-बड़े क्लब, एनजीओ तथा कथित समाजसेवी लाख डाउन के शुरुआत में जहां फोटो खिंचवा कर मीडिया के माध्यम से जनता में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के बाद अब भूमिगत से हो गए लगते हैं एवं जो लोग स्वेच्छा से सहयोग करने को तैयार है उनके पैसे को सही ढंग से एवं सही जगह पर खर्च करने में हो रही अनियमितताओं की चर्चाओं के बीच ही ओमेगा पब्लिक स्कूल की कक्षा तीन की छात्रा मई निवासी उर्वशी सिंह पुत्री भूपेंद्र सिंह ने अपना महत्वपूर्ण योगदान इस महामारी को भगाने में दिया। जब वह अपने पिता के साथ पराऊगंज पुलिस चौकी पर पहुंची तो वहां पर मौजूद चौकी इंचार्ज एवं पुलिसकर्मियों ने सोचा किया कि कुछ फरियाद लेकर आई है लेकिन जब उसने अपना मकसद बताया तो पुलिस वाले भी उसे सलाम करने लगे। कोरोनावायरस के प्रकोप के बारे में टीवी एवं समाज में हो रही चर्चाओं को सुनकर उसके मन में आया कि मैं भी इस महामारी से लड़ने में सरकार को कुछ मदद करूँ, उसने अपने गुल्लक में जमा किए गए पैसों को मोदी जी को देने की इच्छा जताई तो माता पिता को बेटी की सोच पर नाज हुआ और तत्काल गुल्लक के साथ अपनी बेटी को लेकर पराऊगंजगंज पुलिस चौकी पहुंचे वहां मौजूद चौकी प्रभारी युगल किशोर को अपना गुल्लक सौंपते हुए उर्वशी ने कहा कि इसमें जो पैसे हैं उसे प्रधानमंत्री राहत कोष में भेज दिया जाए। चौकी इंचार्ज ने भी नन्ही बच्ची की इस दरियादिली को सलाम करते हुए गुल्लक फोड़ा तो उसमें से 1325 रुपए निकले। चौकी इंचार्ज जुगल किशोर राय ने बताया कि वह इसे प्रधानमंत्री राहत कोष में जमा करवा देंगे। उर्वशी ने यह भी बताया कि उसने यह पैसे 3 महीने में जमा किए थे जिसे कोरोनावायरस को भगाने के लिए प्रधानमंत्री राहत कोष में दान दे रही हूँ इस अवसर पर हरेंद्र प्रताप सहित अन्य पुलिसकर्मी भी मौजूद रहे।

दिलीप कुमार
जौनपुर। कोरोना वायरस से चल रही जंग में जहां तमाम पूंजीपति, व्यवसायी एवं बड़े-बड़े क्लब, एनजीओ तथा कथित समाजसेवी लाख डाउन के शुरुआत में जहां फोटो खिंचवा कर मीडिया के माध्यम से जनता में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के बाद अब भूमिगत से हो गए लगते हैं एवं जो लोग स्वेच्छा से सहयोग करने को तैयार है उनके पैसे को सही ढंग से एवं सही जगह पर खर्च करने में हो रही अनियमितताओं की चर्चाओं के बीच ही ओमेगा पब्लिक स्कूल की कक्षा तीन की छात्रा मई निवासी उर्वशी सिंह पुत्री भूपेंद्र सिंह ने अपना महत्वपूर्ण योगदान इस महामारी को भगाने में दिया। जब वह अपने पिता के साथ पराऊगंज पुलिस चौकी पर पहुंची तो वहां पर मौजूद चौकी इंचार्ज एवं पुलिसकर्मियों ने सोचा किया कि कुछ फरियाद लेकर आई है लेकिन जब उसने अपना मकसद बताया तो पुलिस वाले भी उसे सलाम करने लगे।

समाजवादी पार्टी के Facebook, Twitter एकाउण्ट पर सपा नेता ऋषि यादव के सेवाकार्य की तस्वीर हो रही Viral

कोरोनावायरस के प्रकोप के बारे में टीवी एवं समाज में हो रही चर्चाओं को सुनकर उसके मन में आया कि मैं भी इस महामारी से लड़ने में सरकार को कुछ मदद करूँ, उसने अपने गुल्लक में जमा किए गए पैसों को मोदी जी को देने की इच्छा जताई तो माता पिता को बेटी की सोच पर नाज हुआ और तत्काल गुल्लक के साथ अपनी बेटी को लेकर पराऊगंजगंज पुलिस चौकी पहुंचे वहां मौजूद चौकी प्रभारी युगल किशोर को अपना गुल्लक सौंपते हुए उर्वशी ने कहा कि इसमें जो पैसे हैं उसे प्रधानमंत्री राहत कोष में भेज दिया जाए।

Jaunpur News : मंडी में भीड़ लगाने वालों के खिलाफ होगी कार्यवाहीः डीएम

चौकी इंचार्ज ने भी नन्ही बच्ची की इस दरियादिली को सलाम करते हुए गुल्लक फोड़ा तो उसमें से 1325 रुपए निकले। चौकी इंचार्ज जुगल किशोर राय ने बताया कि वह इसे प्रधानमंत्री राहत कोष में जमा करवा देंगे। उर्वशी ने यह भी बताया कि उसने यह पैसे 3 महीने में जमा किए थे जिसे कोरोनावायरस को भगाने के लिए प्रधानमंत्री राहत कोष में दान दे रही हूँ इस अवसर पर हरेंद्र प्रताप सहित अन्य पुलिसकर्मी भी मौजूद रहे।