शब-ए-बारात में घर पर करें इबादतः इमरान

जौनपुर। मछलीशहर सीरत कमेटी की तरफ से अपील की गयी है कि मुस्लिम समाज के लोग शब-ए-बारात में कब्रिस्तान व मस्जिद जाने के बजाय अपने घरों में ही रहकर इबादत करें। जैसा कि मालुम हो कि सरकार की तरफ से पूरे देश में लॉक डाउन लागू किया गया है। इस वजह से हमें भी शासन-प्रशासन की बातों को मानते हुये कोरोना वायरस जैसे बीमारी से खुद बचना है और अपनों सहित पूरे देश को भी बचाना है। उक्त बातें कमेटी की तरफ से हाजी इमरान ने प्रेस को जारी बयान में कही। उन्होंने आगे कहा कि लॉक डाउन का पालन करें। कब्रिस्तान, मस्जिद, मजार आदि पर न जायं। अपने घरों में रहकर अपने इसाले सवाब के लिये तेलावत कुरान शरीफ का वजीफा पढ़े। सदका व खैरात दें। उन्होंने कहा कि लॉक डाउन की वजह से काफी नुकसान हो रहा है। जो गरीब परेशान हों, उनकी मदद कीजिये, यही सबसे बड़ी इबाबत होगी।

जौनपुर। मछलीशहर सीरत कमेटी की तरफ से अपील की गयी है कि मुस्लिम समाज के लोग शब-ए-बारात में कब्रिस्तान व मस्जिद जाने के बजाय अपने घरों में ही रहकर इबादत करें। जैसा कि मालुम हो कि सरकार की तरफ से पूरे देश में लॉक डाउन लागू किया गया है।

इस वजह से हमें भी शासन-प्रशासन की बातों को मानते हुये कोरोना वायरस जैसे बीमारी से खुद बचना है और अपनों सहित पूरे देश को भी बचाना है। उक्त बातें कमेटी की तरफ से हाजी इमरान ने प्रेस को जारी बयान में कही। उन्होंने आगे कहा कि लॉक डाउन का पालन करें।

कब्रिस्तान, मस्जिद, मजार आदि पर न जायं। अपने घरों में रहकर अपने इसाले सवाब के लिये तेलावत कुरान शरीफ का वजीफा पढ़े। सदका व खैरात दें। उन्होंने कहा कि लॉक डाउन की वजह से काफी नुकसान हो रहा है। जो गरीब परेशान हों, उनकी मदद कीजिये, यही सबसे बड़ी इबाबत होगी।