अनाज वितरण को लेकर जमकर बवाल दरोगा समेत कई घायल

जितेंद्र चौधरी पिंडरा, वाराणसी। स्थानीय फूलपुर थाना  के अंतर्गत ग्रामसभा थानेरामपुर शनिवार की शाम अनाज के वितरण को लेकर दो पक्षों के बीच हुए विवाद के बाद मुसहर समुदाय के लोग उग्र हो गए। कुछ लोगों का कहना है कि उन लोगों ने पुलिस पर पथराव किया लेकिन वनवासी समुदाय का कहना है कि हम लोग पुलिस पर पथराव नहीं किए पुलिस से हमारी कोई दुश्मनी नहीं रही हम कोटेदार से अपना राशन मांग रहे थे। हम लोग वहां झगड़ा के उद्देश्य नहीं गए थे हम लोग अपना राशन लेने के लिए कोटेदार के यहां गए थे लेकिन कोटेदार हम लोगों को राशन नहीं दिया और उल्टे हम लोगों को मारने पीटने लगे। खबर है कि उग्र भीड़ ने पुलिस का टियर गन और एक मोबाइल छीन लिया हैं। पुलिस की एक बाइक भी कुच दी गई। इसी बीच संघर्ष में मुसर ओं की मड़इया भी फूंक दी गई। मौके पर भारी पुलिस फोर्स भी तैनात की गई है। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि समूचे इलाके को सील कर दिया गया है। विवाद का कारण ग्राम प्रधान से वनवासियों से पट्टे की जमीन का विवाद चल रहा था। घटनाक्रम के मुताबिक यह घटना फूलपुर थाना क्षेत्र के थाना रामपुर शनिवार की शाम करीब 7:30 बजे अनाज आदि बांटने के संबंध में दो पक्षों में जमकर विवाद हुआ। इसमें एक पक्ष गांव के दबंग सामान्य वर्गों का था दूसरा पक्ष वनवासियों का था। विवाद का असली कारण शहरों को अनाज देने की आनाकानी की जा रही थी। वनवासी समुदाय का कहना था कि वह भी बीजेपी के अनन्य समर्थक हैं। ग्राम प्रधान उनके साथ भेदभाव की नीति अपना रहे थे। जबकि लॉक डाउन चल रहा है गरीब और बिहारी मजदूर खुद ही खाद्यान्न के लिए परेशान हैं ऐसे में उन्हें ना मिलने के कारण हुए अपनी अर्जी को लेकर फूलपुर थाने पहुंचे। बाद में दोनों पक्षों को समझाने के लिए थाने से लक्ष्मण शर्मा एक दरोगा व सिपाही अमित व अन्य एक पुलिसकर्मी के साथ पहुंचे। दरोगा ने मुसर समुदाय को पहले समझाया और बाद में दूसरे पक्ष को समझाया और कहा शांति बनाए रखिए। इसी बीच दोनों पक्षों के बीच दोबारा विवाद शुरू हो गया और कहासुनी होने लगी विवाद इतना बढ़ गया कि पुलिसकर्मियों की एक बाइक इस डंडों से कुच भी गई और इसी बीच वनवासियों के मडहे को आग के हवाले कर दिया गया और आरोप लगाया गया कि पुलिस के वाहन को वनवासियों ने क्षतिग्रस्त किया। उक्त घटना की सूचना दरोगा लक्ष्मण ने फूलपुर एस ओ अनवर अली को दे दी। थानाध्यक्ष फूलपुर मैं फोर्स के साथ 7:45 बजे मौका वारदात पर पहुंचे। वह भी विवाद को सुलझाने में नाकाम रहे। विवाद इतना ज्यादा बढ़ गया था कि मौके पर ईट पत्थर चलने लगे। इस घटना से इंस्पेक्टर अनवर अली और सिपाही आनंद सहित कई पुलिसकर्मी घायल हो गए खबर है कि पुलिस की एक टियर गन और मोबाइल भी गायब है। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने कहा कि वारदातों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी उन्हें किसी भी सूरत हाल में बख्शा नहीं जाएगा। घटना के बाद समूचे इलाके को सील कर दिया गया है पुलिस आरोपियों की धरपकड़ में पूरी तरह से लगी हुई है। breaking news,crime,nizamuddin police station,coronavirus,police personnel,hindi news,news nation,ott,syndication,lnt,abp news,news,local,roseville,viral video,yogi adityanath,uttar pradesh,sitapur police,tablighi jamaat

जितेंद्र चौधरी
पिंडरा, वाराणसी। स्थानीय फूलपुर थाना के अंतर्गत ग्रामसभा थानेरामपुर शनिवार की शाम अनाज के वितरण को लेकर दो पक्षों के बीच हुए विवाद के बाद मुसहर समुदाय के लोग उग्र हो गए। कुछ लोगों का कहना है कि उन लोगों ने पुलिस पर पथराव किया लेकिन वनवासी समुदाय का कहना है कि हम लोग पुलिस पर पथराव नहीं किए पुलिस से हमारी कोई दुश्मनी नहीं रही हम कोटेदार से अपना राशन मांग रहे थे।

डीएम ने लागू किया धारा 144, कहा- जो जहां है, वही रहे

हम लोग वहां झगड़ा के उद्देश्य नहीं गए थे हम लोग अपना राशन लेने के लिए कोटेदार के यहां गए थे लेकिन कोटेदार हम लोगों को राशन नहीं दिया और उल्टे हम लोगों को मारने पीटने लगे। खबर है कि उग्र भीड़ ने पुलिस का टियर गन और एक मोबाइल छीन लिया हैं। पुलिस की एक बाइक भी कुच दी गई। इसी बीच संघर्ष में मुसर ओं की मड़इया भी फूंक दी गई। मौके पर भारी पुलिस फोर्स भी तैनात की गई है। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि समूचे इलाके को सील कर दिया गया है।

Jaunpur News : नहीं दिया गया मास्क व सैनेटाइजर, बेहद लापरवाह दिख रहे अधीक्षक

विवाद का कारण ग्राम प्रधान से वनवासियों से पट्टे की जमीन का विवाद चल रहा था। घटनाक्रम के मुताबिक यह घटना फूलपुर थाना क्षेत्र के थाना रामपुर शनिवार की शाम करीब 7:30 बजे अनाज आदि बांटने के संबंध में दो पक्षों में जमकर विवाद हुआ। इसमें एक पक्ष गांव के दबंग सामान्य वर्गों का था दूसरा पक्ष वनवासियों का था।

विवाद का असली कारण शहरों को अनाज देने की आनाकानी की जा रही थी। वनवासी समुदाय का कहना था कि वह भी बीजेपी के अनन्य समर्थक हैं। ग्राम प्रधान उनके साथ भेदभाव की नीति अपना रहे थे। जबकि लॉक डाउन चल रहा है गरीब और बिहारी मजदूर खुद ही खाद्यान्न के लिए परेशान हैं ऐसे में उन्हें ना मिलने के कारण हुए अपनी अर्जी को लेकर फूलपुर थाने पहुंचे। बाद में दोनों पक्षों को समझाने के लिए थाने से लक्ष्मण शर्मा एक दरोगा व सिपाही अमित व अन्य एक पुलिसकर्मी के साथ पहुंचे। दरोगा ने मुसर समुदाय को पहले समझाया और बाद में दूसरे पक्ष को समझाया और कहा शांति बनाए रखिए।

जौनपुर : जौनपुर में आंधी-तूफान ने बरपाया कहर, किसानों के छीन गये निवाले

इसी बीच दोनों पक्षों के बीच दोबारा विवाद शुरू हो गया और कहासुनी होने लगी विवाद इतना बढ़ गया कि पुलिसकर्मियों की एक बाइक इस डंडों से कुच भी गई और इसी बीच वनवासियों के मडहे को आग के हवाले कर दिया गया और आरोप लगाया गया कि पुलिस के वाहन को वनवासियों ने क्षतिग्रस्त किया। उक्त घटना की सूचना दरोगा लक्ष्मण ने फूलपुर एस ओ अनवर अली को दे दी। थानाध्यक्ष फूलपुर मैं फोर्स के साथ 7:45 बजे मौका वारदात पर पहुंचे। वह भी विवाद को सुलझाने में नाकाम रहे। विवाद इतना ज्यादा बढ़ गया था कि मौके पर ईट पत्थर चलने लगे। इस घटना से इंस्पेक्टर अनवर अली और सिपाही आनंद सहित कई पुलिसकर्मी घायल हो गए खबर है कि पुलिस की एक टियर गन और मोबाइल भी गायब है। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने कहा कि वारदातों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी उन्हें किसी भी सूरत हाल में बख्शा नहीं जाएगा। घटना के बाद समूचे इलाके को सील कर दिया गया है पुलिस आरोपियों की धरपकड़ में पूरी तरह से लगी हुई है।

breaking news,crime,nizamuddin police station,coronavirus,police personnel,hindi news,news nation,ott,syndication,lnt,abp news,news,local,roseville,viral video,yogi adityanath,uttar pradesh,sitapur police,tablighi jamaat