मत्स्य विभाग की उपस्थिति में होगी मछली बिक्रीः जिलाधिकारी

जौनपुर। जिलाधिकारी दिनेश सिंह ने बताया कि वर्तमान की आपदा के दृष्टिगत पशु-पक्षी आहार सामग्री यथा पोल्ट्री, फिश फीड आदि का परिवहन प्रतिबंध से मुक्त किया जाय। साथ ही सामग्री की दुकान एवं निर्माण इकाई आवश्यकतानुसार संचालित किये जायं। लॉक डाउन की अवधि में आवश्यक सेवाओं की आपूर्ति हेतु खाद्य सामग्री मछली के उत्पादन, विक्रय, परिवहन वितरण आदि को छूट प्रदान किया गया है। स्थानीय बाजार सहित मत्स्य बाजार में मत्स्य विक्रय का कार्य निर्धारित समयावधि में मत्स्य विभाग के कर्मचारियों की उपस्थिति में होगा। मत्स्य बीज के उत्पादन परिवहन एवं वितरण कार्य मत्स्य विभाग की देख-रेख में करायी जायेगी। जिलाधिकारी ने कहा कि मत्स्य पालकों द्वारा आखेट का कार्य किया जाता रहेगा। फिश फीड मत्स्य आहार का परिवहन प्रतिबन्ध से मुक्त रखा जायेगा। यदि मत्स्य पालको, मत्स्य व्यवसाइयों व मजदूरों द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुये मास्क का उपयोग करते हुये अपने गांव, क्षेत्र, हाट, बाजार, नगर क्षेत्र में मत्स्य आखेट बिक्री की जा रही है तो उनको किसी प्रकार के पास की अनुमति की बाध्यता नहीं होगी। उन्होंने जनपद के मत्स्य पालकों से सम्बन्धित उपरोक्त कार्य लॉक डाउन प्रतिबन्धों से मुक्त डिस्टेंसिंग के निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन किया जायेगा। प्रत्येक व्यक्ति के मध्य कम से कम 1 मीटर की दूरी सुनिश्चित की जाय तथा अनावश्यक भीड़ एकत्रित होने पर कार्यवाही की जायेगी।

जौनपुर। जिलाधिकारी दिनेश सिंह ने बताया कि वर्तमान की आपदा के दृष्टिगत पशु-पक्षी आहार सामग्री यथा पोल्ट्री, फिश फीड आदि का परिवहन प्रतिबंध से मुक्त किया जाय। साथ ही सामग्री की दुकान एवं निर्माण इकाई आवश्यकतानुसार संचालित किये जायं। लॉक डाउन की अवधि में आवश्यक सेवाओं की आपूर्ति हेतु खाद्य सामग्री मछली के उत्पादन, विक्रय, परिवहन वितरण आदि को छूट प्रदान किया गया है।

स्थानीय बाजार सहित मत्स्य बाजार में मत्स्य विक्रय का कार्य निर्धारित समयावधि में मत्स्य विभाग के कर्मचारियों की उपस्थिति में होगा। मत्स्य बीज के उत्पादन परिवहन एवं वितरण कार्य मत्स्य विभाग की देख-रेख में करायी जायेगी। जिलाधिकारी ने कहा कि मत्स्य पालकों द्वारा आखेट का कार्य किया जाता रहेगा। फिश फीड मत्स्य आहार का परिवहन प्रतिबन्ध से मुक्त रखा जायेगा।

यदि मत्स्य पालको, मत्स्य व्यवसाइयों व मजदूरों द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुये मास्क का उपयोग करते हुये अपने गांव, क्षेत्र, हाट, बाजार, नगर क्षेत्र में मत्स्य आखेट बिक्री की जा रही है तो उनको किसी प्रकार के पास की अनुमति की बाध्यता नहीं होगी। उन्होंने जनपद के मत्स्य पालकों से सम्बन्धित उपरोक्त कार्य लॉक डाउन प्रतिबन्धों से मुक्त डिस्टेंसिंग के निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन किया जायेगा। प्रत्येक व्यक्ति के मध्य कम से कम 1 मीटर की दूरी सुनिश्चित की जाय तथा अनावश्यक भीड़ एकत्रित होने पर कार्यवाही की जायेगी।