कीटनाशक दवा खाने से पिता की मौत, बेटे की हालत गंभीर

धर्मापुर, जौनपुर। गौराबादशाहपुर थाना अंतर्गत रविवार को प्रातः धर्मापुर ठकुरची गांव में पिता ने भोर में कीटनाशक दवा पीकर अपने दूसरे पुत्र को भी पिला दिया। जिससे पिता की सदर अस्पताल में मृत्यु हो गई और लड़का की गम्भीर हालात में वाराणसी रेफर कर दिया गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार धर्मापुर ठकुरची गांव निवासी कोमल यादव 40 पहले धर्मापुर में चाय की दुकान चलाता था। बाद में वह मुंबई चला गया। इसी दौरान किसी गम्भीर बीमारी की चपेट में आ गया। जिसको लेकर वह काफी परेशान नजर आता था। उसकी पत्नी विंदु देवी का निधन दो वर्ष पहले हो चुका था। रविवार की भोर में कोमल विस्तर से उठा और बीमारी से जूझने के कारण घर में रखा किटनाशक दवा पी लिया और अपने दूसरे पुत्र आदित्य 12 को भी पिला दिया। आदित्य ने अपने बड़े भाई स्वतन्त्र 18 को सारी बात बता दिया। स्वतन्त्र ने पिता की हालत बिगड़ते पिता व भाई को लेकर एम्बुलेंस से सदर अस्पताल भागा। जहाँ इलाज के दौरान कोमल की मृत्यु हो गई और लड़के आदित्य को डॉक्टरों ने बीएचयू वाराणसी के लिए रेफर कर दिया।

धर्मापुर, जौनपुर। गौराबादशाहपुर थाना अंतर्गत रविवार को प्रातः धर्मापुर ठकुरची गांव में पिता ने भोर में कीटनाशक दवा पीकर अपने दूसरे पुत्र को भी पिला दिया। जिससे पिता की सदर अस्पताल में मृत्यु हो गई और लड़का की गम्भीर हालात में वाराणसी रेफर कर दिया गया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार धर्मापुर ठकुरची गांव निवासी कोमल यादव 40 पहले धर्मापुर में चाय की दुकान चलाता था। बाद में वह मुंबई चला गया। इसी दौरान किसी गम्भीर बीमारी की चपेट में आ गया। जिसको लेकर वह काफी परेशान नजर आता था। उसकी पत्नी विंदु देवी का निधन दो वर्ष पहले हो चुका था। रविवार की भोर में कोमल विस्तर से उठा और बीमारी से जूझने के कारण घर में रखा किटनाशक दवा पी लिया और अपने दूसरे पुत्र आदित्य 12 को भी पिला दिया।

आदित्य ने अपने बड़े भाई स्वतन्त्र 18 को सारी बात बता दिया। स्वतन्त्र ने पिता की हालत बिगड़ते पिता व भाई को लेकर एम्बुलेंस से सदर अस्पताल भागा। जहाँ इलाज के दौरान कोमल की मृत्यु हो गई और लड़के आदित्य को डॉक्टरों ने बीएचयू वाराणसी के लिए रेफर कर दिया।