एक और कोरोना पॉजिटिव आने से जिले में आया भूचाल, जानिए इसके बारे में पूरी जानकारी

जौनपुर। जिले में कोरोना पॉजि​टिव का पांचवा केस मिलते ही प्रशासनिक महकमे में भूचाल आ गया। दिल्ली का रहने वाला शाने आलम विगत दो माह पूर्व तब्लीगी जमात में शामिल होकर लखनऊ होते हुए जौनपुर पहुंचा था। यहां बीते 31 मार्च व 1 अप्रैल को छापा मारकर 14 बांग्लादेशी सहित 91 जमातियों को गिरफ्तार किया था। जिसमें से अधिकांश की जांच सेंपल लेकर बीएचयू भेजा गया था। जांच रिपोर्ट में दो बांग्लादेशी, रांची निवासी गाइड व एक सहारनपुर देवबंद का छात्र जो बदलापुर तहसील क्षेत्र के देवरिया गांव का रहने वाला है कि रिेपोर्ट पॉजिटिव आई थी। तीनों को वाराणसी शासन के आदेश पर भेज गया था। यही नहीं जिन स्थानों पर ये लोग गए थे उसे हॉटस्पाट बनाकर पूरा इलाका सील कर दिया गया। आज बुधवार को जब शाने आलम की रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो एक बार फिर जमातियों की ओर लोगों की उंगलियां उठने लगी। 11 अप्रैल को शाने आलम के जांच का सैम्पल लेकर बीएचयू भेजा गया था और वह मोहम्मद ​हसन स्थित आईटीआई कालेज में क्वारेंटाइन में था। फिलहाल रिेपोर्ट मिलते ही जिला प्रशासन ने अब अन्य जमातियों की खोज खबर शुरू कर दी है और शाने आलम जिन—जिन स्थानों पर गया था उसका पता कराने में जुटी है।

जौनपुर। जिले में कोरोना पॉजि​टिव का पांचवा केस मिलते ही प्रशासनिक महकमे में भूचाल आ गया। दिल्ली का रहने वाला शाने आलम विगत दो माह पूर्व तब्लीगी जमात में शामिल होकर लखनऊ होते हुए जौनपुर पहुंचा था। यहां बीते 31 मार्च व 1 अप्रैल को छापा मारकर 14 बांग्लादेशी सहित 91 जमातियों को गिरफ्तार किया था। जिसमें से अधिकांश की जांच सेंपल लेकर बीएचयू भेजा गया था।

जांच रिपोर्ट में दो बांग्लादेशी, रांची निवासी गाइड व एक सहारनपुर देवबंद का छात्र जो बदलापुर तहसील क्षेत्र के देवरिया गांव का रहने वाला है कि रिेपोर्ट पॉजिटिव आई थी। तीनों को वाराणसी शासन के आदेश पर भेज गया था। यही नहीं जिन स्थानों पर ये लोग गए थे उसे हॉटस्पाट बनाकर पूरा इलाका सील कर दिया गया।

जौनपुर। जिले में कोरोना पॉजि​टिव का पांचवा केस मिलते ही प्रशासनिक महकमे में भूचाल आ गया। दिल्ली का रहने वाला शाने आलम विगत दो माह पूर्व तब्लीगी जमात में शामिल होकर लखनऊ होते हुए जौनपुर पहुंचा था। यहां बीते 31 मार्च व 1 अप्रैल को छापा मारकर 14 बांग्लादेशी सहित 91 जमातियों को गिरफ्तार किया था। जिसमें से अधिकांश की जांच सेंपल लेकर बीएचयू भेजा गया था। जांच रिपोर्ट में दो बांग्लादेशी, रांची निवासी गाइड व एक सहारनपुर देवबंद का छात्र जो बदलापुर तहसील क्षेत्र के देवरिया गांव का रहने वाला है कि रिेपोर्ट पॉजिटिव आई थी। तीनों को वाराणसी शासन के आदेश पर भेज गया था। यही नहीं जिन स्थानों पर ये लोग गए थे उसे हॉटस्पाट बनाकर पूरा इलाका सील कर दिया गया।     आज बुधवार को जब शाने आलम की रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो एक बार फिर जमातियों की ओर लोगों की उंगलियां उठने लगी। 11 अप्रैल को शाने आलम के जांच का सैम्पल लेकर बीएचयू भेजा गया था और वह मोहम्मद ​हसन स्थित आईटीआई कालेज में क्वारेंटाइन में था। फिलहाल रिेपोर्ट मिलते ही जिला प्रशासन ने अब अन्य जमातियों की खोज खबर शुरू कर दी है और शाने आलम जिन—जिन स्थानों पर गया था उसका पता कराने में जुटी है।

आज बुधवार को जब शाने आलम की रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो एक बार फिर जमातियों की ओर लोगों की उंगलियां उठने लगी। 11 अप्रैल को शाने आलम के जांच का सैम्पल लेकर बीएचयू भेजा गया था और वह मोहम्मद ​हसन स्थित आईटीआई कालेज में क्वारेंटाइन में था। फिलहाल रिेपोर्ट मिलते ही जिला प्रशासन ने अब अन्य जमातियों की खोज खबर शुरू कर दी है और शाने आलम जिन—जिन स्थानों पर गया था उसका पता कराने में जुटी है।