दबे-कुचलों के उत्थान के लिये डा. अम्बेडकर ने आजीवन संघर्ष कियाः डा. सिद्धार्थ

जौनपुर। नगर के वाजिदपुर तिराहे के पास स्थित सिद्धार्थ हास्पिटल पर बाबा साहब भीम राव अम्बेडकर की 129वीं जयन्ती मनायी गयी। इस मौके पर डा. लाल बहादुर सिद्धार्थ ने अम्बेडकर जी के चित्र पर माल्यार्पण करते हुये कहा कि उन्होंने ही संविधान की रचना की। समाज के दबे-कुचले लोगों के उत्थान सहित उन्हें स्वाभिमान से जीने का अधिकार दिलाने के लिये उन्होंने आजीवन संघर्ष किया। इस दौरान हास्पिटल में आये मरीजों का निःशुल्क स्वास्थ्य जांच कर दवा दियाग या। साथ ही सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुये लोगों को मिठाई खिलायी गयी। इस अवसर पर डा. सतीश पाण्डेय, राजेन्द्र सिद्धार्थ, पप्पू कन्नौजिया, विनोद यादव, धर्मेन्द्र यादव, अच्छे सिद्धार्थ, मुन्ना सिद्धार्थ, ओपी यादव, शिवम, बण्टी श्रीवास्तव सहित तमाम लोग उपस्थित रहे। इसी क्रम में बक्शा क्षेत्र के बसारतपुर गांव के लोगों सहित बच्चों में मिठाई का वितरण किया गया जहां लोगों की उपस्थित रही लेकिन सभी ने सोशल डिस्टेंस का पालन किया।

जौनपुर। नगर के वाजिदपुर तिराहे के पास स्थित सिद्धार्थ हास्पिटल पर बाबा साहब भीम राव अम्बेडकर की 129वीं जयन्ती मनायी गयी। इस मौके पर डा. लाल बहादुर सिद्धार्थ ने अम्बेडकर जी के चित्र पर माल्यार्पण करते हुये कहा कि उन्होंने ही संविधान की रचना की। समाज के दबे-कुचले लोगों के उत्थान सहित उन्हें स्वाभिमान से जीने का अधिकार दिलाने के लिये उन्होंने आजीवन संघर्ष किया। इस दौरान हास्पिटल में आये मरीजों का निःशुल्क स्वास्थ्य जांच कर दवा दियाग या।

साथ ही सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुये लोगों को मिठाई खिलायी गयी। इस अवसर पर डा. सतीश पाण्डेय, राजेन्द्र सिद्धार्थ, पप्पू कन्नौजिया, विनोद यादव, धर्मेन्द्र यादव, अच्छे सिद्धार्थ, मुन्ना सिद्धार्थ, ओपी यादव, शिवम, बण्टी श्रीवास्तव सहित तमाम लोग उपस्थित रहे। इसी क्रम में बक्शा क्षेत्र के बसारतपुर गांव के लोगों सहित बच्चों में मिठाई का वितरण किया गया जहां लोगों की उपस्थित रही लेकिन सभी ने सोशल डिस्टेंस का पालन किया।