जिलाधिकारी ने जगह-जगह बने शेल्टर होम का किया निरीक्षण

जौनपुर। जिलाधिकारी दिनेश सिंह ने मोहम्मद हसन इण्टर कालेज, मोहम्मद हसन आईटीआई, मां दुर्गा सीनियर सेकेण्डरी विद्यालय में बने शेल्टर होम का निरीक्षण किया। साथ ही क्वारेंटाइन में रह रहे लोगों की समस्याएं सुनकर उनको दिये जाने वाले भोजन की गुणवत्ता परखी। इस मौके पर उन्होंने कहा कि किसी को परेशान होने की आवश्यकता नहीं है। किसी को कोई समस्या नहीं होने दी जायेगी। सबको खाने पीने की पर्याप्त सुविधा उपलब्ध है। सभी लोग एक-एक मीटर की दूरी बनाकर रखें तथा कोई भी एक-दूसरे को न छुये। इस दौरान उपजिलाधिकारी सदर नितिश सिंह ने बताया कि मोहम्मद हसन इण्टर कालेज में 126, मोहम्मद हसन आईटीआई में 78 तथा मां दुर्गा सीनियर सेकेण्डरी स्कूल में 96 लोग क्वारेंटाइन में हैं। जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी को निर्देश दिया कि शेल्टर होम में रह रहे लोगों में से किसी के भी मोबाइल में बैलेंस न हो तो उनका बैलेंस डलवा दें। शेल्टर होम में रह रहे लोग जिस भी कम्पनी में काम कर रहे हों और उस कम्पनी द्वारा उनका वेतन नहीं दिया गया है तो उनकी सूची बनाकर उपलब्ध करायें। कम्पनी से बात करके उनका वेतन उनके खाते में पहुंचाना सुनिश्चित कराया जा सके।

जौनपुर। जिलाधिकारी दिनेश सिंह ने मोहम्मद हसन इण्टर कालेज, मोहम्मद हसन आईटीआई, मां दुर्गा सीनियर सेकेण्डरी विद्यालय में बने शेल्टर होम का निरीक्षण किया। साथ ही क्वारेंटाइन में रह रहे लोगों की समस्याएं सुनकर उनको दिये जाने वाले भोजन की गुणवत्ता परखी। इस मौके पर उन्होंने कहा कि किसी को परेशान होने की आवश्यकता नहीं है। किसी को कोई समस्या नहीं होने दी जायेगी। सबको खाने पीने की पर्याप्त सुविधा उपलब्ध है।

सभी लोग एक-एक मीटर की दूरी बनाकर रखें तथा कोई भी एक-दूसरे को न छुये। इस दौरान उपजिलाधिकारी सदर नितिश सिंह ने बताया कि मोहम्मद हसन इण्टर कालेज में 126, मोहम्मद हसन आईटीआई में 78 तथा मां दुर्गा सीनियर सेकेण्डरी स्कूल में 96 लोग क्वारेंटाइन में हैं। जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी को निर्देश दिया कि शेल्टर होम में रह रहे लोगों में से किसी के भी मोबाइल में बैलेंस न हो तो उनका बैलेंस डलवा दें। शेल्टर होम में रह रहे लोग जिस भी कम्पनी में काम कर रहे हों और उस कम्पनी द्वारा उनका वेतन नहीं दिया गया है तो उनकी सूची बनाकर उपलब्ध करायें। कम्पनी से बात करके उनका वेतन उनके खाते में पहुंचाना सुनिश्चित कराया जा सके।