दिनेशकान्त यादव अनवरत वितरित कर रहे गरीबों को खाद्यान्न

जौनपुर। वैश्विक  महामारी के संकट को रोकने के लिये चल रहे देशव्यापी लॉक डाउन के दौरान मध्यम व निकले तबके के लोगों को पेट भरने की बड़ी समस्या खड़ी हो गयी है। इसके तहत पूर्व सांसद उमाकान्त यादव के निर्देश पर उनके पुत्र दिनेशकान्त यादव द्वारा सैकड़ों गरीबों-असहायों को खाद्यान्न वितरित किया गया। देखा जा रहा है कि दिनेशकान्त यादव और रविकान्त यादव द्वारा जनपद के विभिन्न क्षेत्रों के जरूरतमन्दों को लगातार राहत सामग्री का वितरण किया जा रहा है। इस दौरान दिनेश कान्त ने बताया कि खेतासराय के शाहपुर की झुग्गी बस्ती में खाद्यान्न पैकेट वितरित किया गया। उक्त पैकेट में आटा, चावल, दाल, नमक, तेल, बिस्कुट, मसाला आदि है। श्री यादव ने कहा कि वितरण का यह कार्य लॉक डाउन तक अनवरत जारी रहेगा। इसी प्रकार सेवा एक मुहिम हेल्पिंग हैण्ड सोसाइटी के तहत गरीबों को खाना का वितरण किया गया।

जौनपुर। वैश्विक महामारी के संकट को रोकने के लिये चल रहे देशव्यापी लॉक डाउन के दौरान मध्यम व निकले तबके के लोगों को पेट भरने की बड़ी समस्या खड़ी हो गयी है। इसके तहत पूर्व सांसद उमाकान्त यादव के निर्देश पर उनके पुत्र दिनेशकान्त यादव द्वारा सैकड़ों गरीबों-असहायों को खाद्यान्न वितरित किया गया। देखा जा रहा है कि दिनेशकान्त यादव और रविकान्त यादव द्वारा जनपद के विभिन्न क्षेत्रों के जरूरतमन्दों को लगातार राहत सामग्री का वितरण किया जा रहा है।

इस दौरान दिनेश कान्त ने बताया कि खेतासराय के शाहपुर की झुग्गी बस्ती में खाद्यान्न पैकेट वितरित किया गया। उक्त पैकेट में आटा, चावल, दाल, नमक, तेल, बिस्कुट, मसाला आदि है। श्री यादव ने कहा कि वितरण का यह कार्य लॉक डाउन तक अनवरत जारी रहेगा। इसी प्रकार सेवा एक मुहिम हेल्पिंग हैण्ड सोसाइटी के तहत गरीबों को खाना का वितरण किया गया।

 

आप लोगों भरपूर सहयोग और प्यार की वजह से तेजस टूडे डॉट कॉम आज Google News और Dailyhunt जैसे बड़े प्लेटर्फाम पर जगह बना लिया है। आज इसकी पाठक संख्या लगातार बढ़ रही है और इसके लगभग डेढ़ करोड़ विजिटर हो गये है। आपका प्यार ऐसे ही मिलता रहा तो यह पूर्वांचल के साथ साथ भारत में अपना एक अलग पहचान बना लेगा।
deepak jaiswal
आप लोगों भरपूर सहयोग और प्यार की वजह से तेजस टूडे डॉट कॉम आज Google News और Dailyhunt जैसे बड़े प्लेटर्फाम पर जगह बना लिया है। आज इसकी पाठक संख्या लगातार बढ़ रही है और इसके लगभग डेढ़ करोड़ विजिटर हो गये है। आपका प्यार ऐसे ही मिलता रहा तो यह पूर्वांचल के साथ साथ भारत में अपना एक अलग पहचान बना लेगा।