Saturday, December 10, 2022
Advertisement

ओला कम्पनी की फ्रेंचाइजी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले दम्पत्ति चढ़े पुलिस के हत्थे

ओला कम्पनी की फ्रेंचाइजी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले दम्पत्ति चढ़े पुलिस के हत्थे

एसओजी व सर्विलांस को मिली बड़ी सफलता
रंजीत सिंह
उरई। एक बड़ी कंपनी की फ्रेंचाइजी दिलाने के नाम पर लाखों रुपए की ठगी करने वाले अंतर्राज्यीय शातिर दंपति को पीडि़त की शिकायत पर एसओजी व सर्विलांस ने धर दबोचा जिसका पुलिस अधीक्षक रवि कुमार ने खुलासा किया। जानकारी के अनुसार जालौन कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला भवानीराम निवासी अरुण सिंह निरंजन ने कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि उनके फेसबुक आईडी पर जून माह में ओला कंपनी की डीलरशिप लेने के लिए विज्ञापन आया था।

जब उन्होंने विज्ञापन को सर्च किया तो करीब एक घंटे बाद उनके पास महिला का फोन आया जिसमें उसने स्वयं को ओला कंपनी की बैंंगलोर शाखा का ब्रांच मैनेजर बताया और डीलरशिप देने के संबंध में जानकारी दी। इसके बाद उसने सीनियर मैनेजर से बात कराई। दोनों ने अपनी लुभावनी बातों में उन्हें फंसा लिया और डीलरशिप लेकर अच्छा व्यापार करने की बात कहकर एक एकाउंट में किश्तों में 28 लाख 20 हजार रुपए जमा करा लिए। भुगतान करने पर उक्त लोगों द्वारा ओला कंपनी के लेटर पैड पर भुगतान की रसीद भी पीडीएफ के माध्यम से उसके पास भेजी। इतनी बड़ी रकम भेजने के बाद जब उन्होंने डीलरशिप संबंधी कागज उक्त दोनों से मांगे तो वह उन्हें टहलाते रहे तब उन्होंने ओला कंपनी की बैंगलोर शाखा से संपर्क किया तब उन्हें अपने साथ हुई ठगी का अहसास हुआ।

इसके बाद उन्होंने कोतवाली में शिकायत की। पूरा मामला एसओजी व सर्विलांस के हवाले किया गया जिस पर एसओजी प्रभारी अर्जुन सिंह व सर्विलांस प्रभारी योगेश पाठक ने अपनी टीमों के साथ बिहार के पटना में स्थित महेंद्रपुरम एपार्टमेंट से अभिमन्यु कुमार एवं उसकी पत्नी पपली कुमारी को गिरफ्तार किया। पकड़े गए लोगों ने बताया कि वह पति पत्नी कई प्राइवेट कंपनियों के ब्रांच मैनेजर व अन्य अधिकारी बताकर लोगों को लुभावने आफर देकर ठगी करते थे। गिरफ्तार करने वाली टीम में श्रीराम प्रजापति, राजीव कुमार, जगदीश चंद्र, कर्मवीर सिंह, गौरव वाजपेई, सुशांत मिश्रा, शैलेंद्र चौहान, विनय प्रताप, खुर्शीद आलम, प्रीति तोमर शामिल रहे।

15 दिन की मेहनत लायी रंग
घर परिवार छोडक़र ठगी करने वाले बंटी और बबली को पकडऩे के लिए एसओजी व सर्विलांस को नाकों चने चबाने पड़े। अपने घर परिवार को छोडक़र बिहार में रहकर कड़ी से कड़ी जोडक़र मुख्य आरोपी तक पहुंचने की मुहिम में लगे एसओजी प्रभारी अर्जुन सिंह व सर्विलांस प्रभारी योगेश पाठक एवं उनकी टीम ने कड़ी मशक्कत के बाद मुख्य आरोपियों को धर दबोचा। उक्त आरोपी इतने शातिर थे कि दूसरों के बैंक अकाउंट किराए पर लेकर उनको कुछ रकम देकर उस अकाउंट में ठगी गई रकम डलवाते थे। आधा दर्जन के करीब फर्जी सिमों व अकाउंटों की दम पर उक्त पकड़े गए दंपति कई लोगों को लाखों की चपत लगा चुके थे लेकिन इस बार जालौन पुलिस के हत्थे चढ़ गए।

आधुनिक तकनीक से करायें प्रचार, बिजनेस बढ़ाने पर करें विचार
हमारे न्यूज पोर्टल पर करायें सस्ते दर पर प्रचार प्रसार।

Jaunpur News: Two arrested with banned meat

Job: Correspondents are needed at these places of Jaunpur

बीएचयू के छात्र-छात्राओं से पुलिस की नोकझोंक, जानिए क्या है मामला

Jaunpur News : 22 जनवरी को होगा विशेष लोक अदालत का आयोजन

पारिवारिक कलह से क्षुब्ध होकर युवक ने ​खाया जहरीला पदार्थ | #TEJASTODAY चंदन अग्रहरि शाहगंज, जौनपुर। क्षेत्र के पारा कमाल गांव में पारिवारिक कलह से क्षुब्ध होकर बुधवार की शाम युवक ने किटनाशक पदार्थ का सेवन कर लिया। आनन फानन में परिजनों ने उपचार के लिए पुरुष चिकित्सालय लाया गया। जहां पर चिकित्सकों ने हालत गंभीर देखते हुए जिला चिकित्सालय रेफर कर दिया। क्षेत्र के पारा कमाल गांव निवासी पिंटू राजभर 22 पुत्र संतलाल बुधवार की शाम पारिवारिक कलह से क्षुब्ध होकर घर में रखा किटनाशक पदार्थ का सेवन कर लिया। हालत गंभीर होने पर परिजन उपचार के लिए पुरुष चिकित्सालय लाया गया। जहां पर हालत गंभीर देखते हुए चिकित्सकों बेहतर इलाज के लिए जिला अस्पताल रेफर कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Read More

Recent