कोरोना भाईचारे को मिटा नहीं सकताः विनोद यादव

जौनपुर।  केराकत क्षेत्र के तेजपुर प्राथमिक विद्यालय पर मंगलवार को दूसरे राज्यों से आये ग्रामीणों की रहने व संक्रमण से बचाव हेतु युवा समाजसेवी विनोद यादव ने चारपाई, गद्दा आदि की व्यवस्था करवाया। साथ ही पूरे विद्यालय परिसर को सेनिटाइज कराते हुये लोगों के लिये सेनिटाइजर भी दिया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि गांव मेरा है, गांव के लोग मेरे अपने हैं, कोरोना हमारे भाईचारे को मिटा नहीं सकता। बाहर से आये सभी ग्रामीणों की सुविधा का ख्याल रखा जायेगा जिससे ग्रामीणों के चेहरे पर खुशी की लहर साफ देखने को मिली। मुम्बई से आये कैलाश यादव ने कहा कि लॉक डाउन के चलते दो माह से बैठकर खा रहा था। कोई विकल्प नजर नहीं आया तो गांव का रास्ता अख्तियार कर लिया। वहीं संजीव यादव ने बताया कि गांव आने के बाद सबसे बड़ी समस्या थी कि कहां रूका जाय लेकिन प्राथमिक विद्यालय का विकल्प सूझा जिसमें ग्रामवासियों ने भरपूर सहयोग किया। इसी प्रकार राम जतन राम ने बताया कि पानीपत में रोजी रोजगार के सिलसिले में गया था। कोरोना ने मेरा रोजगार छीन लिया। गांव आकर बहुत सुकून मिल रहा है।

जौनपुर। केराकत क्षेत्र के तेजपुर प्राथमिक विद्यालय पर मंगलवार को दूसरे राज्यों से आये ग्रामीणों की रहने व संक्रमण से बचाव हेतु युवा समाजसेवी विनोद यादव ने चारपाई, गद्दा आदि की व्यवस्था करवाया। साथ ही पूरे विद्यालय परिसर को सेनिटाइज कराते हुये लोगों के लिये सेनिटाइजर भी दिया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि गांव मेरा है, गांव के लोग मेरे अपने हैं, कोरोना हमारे भाईचारे को मिटा नहीं सकता।

बाहर से आये सभी ग्रामीणों की सुविधा का ख्याल रखा जायेगा जिससे ग्रामीणों के चेहरे पर खुशी की लहर साफ देखने को मिली। मुम्बई से आये कैलाश यादव ने कहा कि लॉक डाउन के चलते दो माह से बैठकर खा रहा था। कोई विकल्प नजर नहीं आया तो गांव का रास्ता अख्तियार कर लिया। वहीं संजीव यादव ने बताया कि गांव आने के बाद सबसे बड़ी समस्या थी कि कहां रूका जाय लेकिन प्राथमिक विद्यालय का विकल्प सूझा जिसमें ग्रामवासियों ने भरपूर सहयोग किया। इसी प्रकार राम जतन राम ने बताया कि पानीपत में रोजी रोजगार के सिलसिले में गया था। कोरोना ने मेरा रोजगार छीन लिया। गांव आकर बहुत सुकून मिल रहा है।

  जौनपुर। केराकत क्षेत्र के तेजपुर प्राथमिक विद्यालय पर मंगलवार को दूसरे राज्यों से आये ग्रामीणों की रहने व संक्रमण से बचाव हेतु युवा समाजसेवी विनोद यादव ने चारपाई, गद्दा आदि की व्यवस्था करवाया। साथ ही पूरे विद्यालय परिसर को सेनिटाइज कराते हुये लोगों के लिये सेनिटाइजर भी दिया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि गांव मेरा है, गांव के लोग मेरे अपने हैं, कोरोना हमारे भाईचारे को मिटा नहीं सकता। बाहर से आये सभी ग्रामीणों की सुविधा का ख्याल रखा जायेगा जिससे ग्रामीणों के चेहरे पर खुशी की लहर साफ देखने को मिली। मुम्बई से आये कैलाश यादव ने कहा कि लॉक डाउन के चलते दो माह से बैठकर खा रहा था। कोई विकल्प नजर नहीं आया तो गांव का रास्ता अख्तियार कर लिया। वहीं संजीव यादव ने बताया कि गांव आने के बाद सबसे बड़ी समस्या थी कि कहां रूका जाय लेकिन प्राथमिक विद्यालय का विकल्प सूझा जिसमें ग्रामवासियों ने भरपूर सहयोग किया। इसी प्रकार राम जतन राम ने बताया कि पानीपत में रोजी रोजगार के सिलसिले में गया था। कोरोना ने मेरा रोजगार छीन लिया। गांव आकर बहुत सुकून मिल रहा है।
Deepak Jaiswal 7007529997, 9918557796
आप लोगों भरपूर सहयोग और प्यार की वजह से तेजस टूडे डॉट कॉम आज Google News और Dailyhunt जैसे बड़े प्लेटर्फाम पर जगह बना लिया है। आज इसकी पाठक संख्या लगातार बढ़ रही है और इसके लगभग 2 करोड़ विजिटर हो गये है। आपका प्यार ऐसे ही मिलता रहा तो यह पूर्वांचल के साथ साथ भारत में अपना एक अलग पहचान बना लेगा।