बाबा साहब का 129वां जन्मदिवस धूमधाम से मनाया गया

दिलीप कुमार जलालपुर, जौनपुर। स्थानीय क्षेत्र में बाबा साहब डा. भीम राव अम्बेडकर का 129वां जन्मदिवस मनाया गया। इस मौके पर उपस्थित लोगों ने सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुये कहा कि बाबा साहब के विचारों से अभी कोसों दूर लोग विचरण कर रहे हैं। आज हमें अपने आपमें गर्व है कि हम ऐसे समाज में पैदा हुए जिनके महापुरुष जो पूरे विश्व की ज्योति कहे जाते हैं। इस अवसर पर प्रेमशंकर अध्यापक, उनकी पत्नी, आरबीसीएम टीम संतोष, रिंकू, मनोज, महेश, सन्नी, रमेश, राहुल, सुरेंद्र, अमित, अरुण, आशीष, सुजीत, उत्कर्ष आदि उपस्थित रहे। ग्रामसभा मझगवा कला के प्रधान सुभाष सोनकर एवं विनोद सिद्धार्थ ने समाज के नवयुवकों को अपने विचारों के माध्यम से महामानव युग दृष्टा, संविधान निर्माता बाबा साहब के जीवन की गाथाओं को सुंदर शब्दों में पिरोकर उनकी महिमा का गुणगान कर पाना बहुत ही अल्प मात्र होगा। सिरकोनी क्षेत्र के राजेपुर त्रिमुहानी चौक पर बाबा साहब के चित्र पर पुष्प अर्पित करते एवं दीप प्रज्ज्वलित कर डा. रामाश्रय अध्यापक ने नवयुवकों से बाबा साहब के जीवन गाथा को अपने जीवन में उतारकर समाज में नई क्रांति को लाने का प्रयत्न करना चाहिये। इस अवसर पर डा. रवि प्रकाश, जगदेव, हरिलाल, मनोज, राजवीर सहित अनेक लोग उपस्थित रहे।

दिलीप कुमार
जलालपुर, जौनपुर। स्थानीय क्षेत्र में बाबा साहब डा. भीम राव अम्बेडकर का 129वां जन्मदिवस मनाया गया। इस मौके पर उपस्थित लोगों ने सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुये कहा कि बाबा साहब के विचारों से अभी कोसों दूर लोग विचरण कर रहे हैं। आज हमें अपने आपमें गर्व है कि हम ऐसे समाज में पैदा हुए जिनके महापुरुष जो पूरे विश्व की ज्योति कहे जाते हैं।

इस अवसर पर प्रेमशंकर अध्यापक, उनकी पत्नी, आरबीसीएम टीम संतोष, रिंकू, मनोज, महेश, सन्नी, रमेश, राहुल, सुरेंद्र, अमित, अरुण, आशीष, सुजीत, उत्कर्ष आदि उपस्थित रहे। ग्रामसभा मझगवा कला के प्रधान सुभाष सोनकर एवं विनोद सिद्धार्थ ने समाज के नवयुवकों को अपने विचारों के माध्यम से महामानव युग दृष्टा, संविधान निर्माता बाबा साहब के जीवन की गाथाओं को सुंदर शब्दों में पिरोकर उनकी महिमा का गुणगान कर पाना बहुत ही अल्प मात्र होगा।

  दिलीप कुमार जलालपुर, जौनपुर। स्थानीय क्षेत्र में बाबा साहब डा. भीम राव अम्बेडकर का 129वां जन्मदिवस मनाया गया। इस मौके पर उपस्थित लोगों ने सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुये कहा कि बाबा साहब के विचारों से अभी कोसों दूर लोग विचरण कर रहे हैं। आज हमें अपने आपमें गर्व है कि हम ऐसे समाज में पैदा हुए जिनके महापुरुष जो पूरे विश्व की ज्योति कहे जाते हैं। इस अवसर पर प्रेमशंकर अध्यापक, उनकी पत्नी, आरबीसीएम टीम संतोष, रिंकू, मनोज, महेश, सन्नी, रमेश, राहुल, सुरेंद्र, अमित, अरुण, आशीष, सुजीत, उत्कर्ष आदि उपस्थित रहे। ग्रामसभा मझगवा कला के प्रधान सुभाष सोनकर एवं विनोद सिद्धार्थ ने समाज के नवयुवकों को अपने विचारों के माध्यम से महामानव युग दृष्टा, संविधान निर्माता बाबा साहब के जीवन की गाथाओं को सुंदर शब्दों में पिरोकर उनकी महिमा का गुणगान कर पाना बहुत ही अल्प मात्र होगा। सिरकोनी क्षेत्र के राजेपुर त्रिमुहानी चौक पर बाबा साहब के चित्र पर पुष्प अर्पित करते एवं दीप प्रज्ज्वलित कर डा. रामाश्रय अध्यापक ने नवयुवकों से बाबा साहब के जीवन गाथा को अपने जीवन में उतारकर समाज में नई क्रांति को लाने का प्रयत्न करना चाहिये। इस अवसर पर डा. रवि प्रकाश, जगदेव, हरिलाल, मनोज, राजवीर सहित अनेक लोग उपस्थित रहे।

सिरकोनी क्षेत्र के राजेपुर त्रिमुहानी चौक पर बाबा साहब के चित्र पर पुष्प अर्पित करते एवं दीप प्रज्ज्वलित कर डा. रामाश्रय अध्यापक ने नवयुवकों से बाबा साहब के जीवन गाथा को अपने जीवन में उतारकर समाज में नई क्रांति को लाने का प्रयत्न करना चाहिये। इस अवसर पर डा. रवि प्रकाश, जगदेव, हरिलाल, मनोज, राजवीर सहित अनेक लोग उपस्थित रहे।