Jaunpur : ऐसा क्या हुआ जो धनंयज सिंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखा पत्र, जानिए क्या है मामला

सुरेरी, जौनपुर। एक तरफ जहां योगी सरकार गांवों को शहर से जोड़ने के लिए लाखों करोड़ों रु पए खर्च कर सड़कों का निर्माण कर रही है, तो वहीं दूसरी तरफ उन सड़कों पर यातायात की व्यवस्था सुचारु ढंग से ना होने के कारण सरकार के इस मंशा पर पानी फिरता नजर आ रहा है।

उदाहरण के तौर पर विकासखंड रामपुर के रामपुर कठवतिया मार्ग को देखा जा सकता है जहां आजादी के दशकों बाद भी इस रोड पर रोडवेज बसों का संचालन नहीं किया जा सका, जबकि उक्त मार्ग रामपुर से होते हुए जौनपुर को भी चली जाती है, वहीं उक्त मार्ग पर सैकड़ों ऐसे गांव भी है जिस गांव के ग्रामीणों को जौनपुर जाने के लिए कई बार सोचना पड़ता है, अगर ग्रामीण किसी तरह जौनपुर पहुंच भी गए तो लौटते समय शाम पाँच बजे के बाद से ही उक्त मार्ग पर यातायात की व्यवस्था पूर्ण रूप से ठप हो जाती है।

जिससे राहगीरों को घर लौटने में काफी मुसीबतों का सामना उठाना पड़ता है। कई जनप्रतिनिधियों ने उक्त मार्ग पर रोडवेज बसों के संचालन को शुरु कराने का वादा तो किया था लेकिन उसका संचालन दशकों बाद भी नहीं हो सका।
वहीं क्षेत्र की समस्याओं को देखते हुए समाजसेवी धनंजय सिंह ने मुख्यमंत्री को पत्र लिख कर रामपुर कठवतिया मार्ग पर रोडवेज बस के संचालन की मांग की है।

कमरु द्दीनपुर गांव निवासी समाजसेवी धनंजय सिंह ने बताया कि शाम के वक्त रामपुर से कठवतिया मार्ग पर आने के लिए लगभग सैकड़ों गांवों के ग्रामीणों को कभी-कभी 10 से पंद्रह किलोमीटर तक का पैदल सफर भी करना पड़ता है, जिसे संज्ञान में लेकर मुख्यमंत्री को पत्र लिखा गया हैं। वहीं समाजसेवी ने मुख्यमंत्री से यह उम्मीद भी जताई है कि मुख्यमंत्री उक्त मामले को संज्ञान में लेकर आम जनमानस की यात्रा को सरल बनाने के लिए जल्द ही उक्त मार्ग पर रोडवेज बसों का संचालन करेंगे।